कुछ ऐसे बातें जो आपके रिश्तों में मिठास घोल देंगी

आज हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे बातें जो आपके रिश्तों में मिठास घोल देंगी।
रिश्तों की नाजुक डोर प्यार और विश्वास पर टिकी होती है| रिश्ता चाहे पति-पत्नी का हो, दोस्ती का हो या गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड का, आपसी समझ होना जरूरी है। कई बार छोटी- छोटी बातें रिश्तों में खटास ले आती हैं।
स्पेशल फील कराएं
जरूरी नहीं कि हर रिश्ते में किसी को स्पेशल फील करवाने में तोहफे की जरूरत पड़े। अक्सर आपका बर्ताव भी दूसरों को स्पेशल करवा देता है। दोस्त या पार्टनर की सराहना करें। उनके किसी अचीवमेंट पर उन्हें प्यारा-सा उपहार दें ताकि उन्हें लगे कि आप उन्हें अपने कीमती समय से कुछ खास पल देती हैं। ऐसा करना न सिर्फ आपके रिश्ते को खास बनाएगा बल्कि एक-दूसरे को और करीब लाएगा।
एक-दूसरे का करें सम्मान
सम्मान हर रिश्ते को मजबूत बनाता है। फिर वह चाहे आपसे छोटा हो, हमउम्र हो या आपसे बड़ा| अगर आप दूसरों का आदर करेंगी तो दूसरे भी आपका सम्मान करेंगे। इससे रिश्ता और गहरा होता जाएगा। हर रिश्ते को अहमियत दें।
भरोसा है रिश्ते की बुनियाद
किसी भी रिश्ते की नींव प्यार और विश्वास पर टिकी होती है। अगर आप दोनों के बीच भरोसा है, तो कोई भी तीसरा व्यक्ति आपके रिश्ते में दरार नहीं डाल सकता। एक-दूसरे पर विश्वास बनाए रखने के लिए यह ध्यान रखें कि किसी के बहकावे या कहने पर एक-दूसरे पर शक न करें। बल्कि बात की तह तक जाने की कोशिश करें। खुद भी कभी अपने साथी का भरोसा न तोड़ें।
पार्टनर को न दें दोष
प्यार में यह मायने नहीं रखता कि आप कितनी योग्य हैं, बल्कि यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने संबंध कितने अच्छी तरह से निभा रही हैं। अक्सर मूड खराब होने से कई बार हम अपने पार्टनर से गुस्सा हो जाते हैं और उन्हें दोष देने लगते हैं। रिश्तों में मजबूती के लिए कभी खुद को भी दोषी मान लेने में भलाई है।
साथ-साथ समय बिताएं
आज की दौड़भाग भरी जीवनशैली में सभी व्यस्त हैं। जिस तरह आप अपने सबसे जरूरी कामों के लिए समय चुरा लेती हैं वैसे ही दोस्त या पार्टनर को भी समय देना जरूरी है। रिश्ते मजबूत बने रहें इसके लिए बीच-बीच में घूमने जाएं, दिन में एक बार फोन करें या सरप्राइज मिलने पहुंचे।
अच्छी श्रोता बनें
रिश्तों में मिठास बरकरार रखने के लिए एक-दूसरे को सुनना बहुत जरूरी है| जब तक आप एक-दूसरे को सुनेंगे नहीं समस्या का हल नहीं होगा। छोटी-छोटी बातों को नजरअंदाज करना जरूरी है| हमेशा अपनी बात रखने की बजाए पार्टनर या दोस्त की भी सुने। उन्हें अच्छा लगेगा। वैसे भी कमियां तो सब मैं होती हैं पर हमें उसे वैसे ही स्वीकार करना चाहिए जैसा वह हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »