कुछ लोग मेरे सरकारी बंगले में कुदाल और हथौड़ा लेकर गए थे: अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज जनेश्वर मिश्र की जयंती पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस दौरान उन्‍होंने सरकारी बंगला तोड़ने के आरोप पर कहा कि कुछ लोग मेरे घर में कुदाल और हथौड़ा लेकर गए थे। रात में जो लोग हथौड़ा लेकर गए थे, उनका नाम उजागर होना चाहिए। हथौड़ा ले जाने वाले का नाम उजागर करने पर समाजवादी लोग 11 लाख ईनाम देंगे। यहां सपा कार्यकर्ताओं से भी अखिलेश यादव ने मुलाकात की। कार्यक्रम के दौरान बलिया से निकली साइकिल रैली का अखिलेश यादव ने स्वागत किया। साथ ही जनेश्वर मिश्र से संबधित पुस्तक का विमोचन किया। थोड़ी देर बाद सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव भी जनेश्वर मिश्र पार्क पहुंचे और यहां उन्होंने उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। सपा के वरिष्ठ नेता अहमद हसन, एसआरएस यादव, राजेन्द्र चौधरी, पूर्व मंत्री अरविंद सिंह गोप आदि मौजूद रहे।
इस दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि जनेश्वर मिश्र गरीब, किसान हर वर्ग के नेता थे। अखिलेश ने बलिया से निकली साइकिल यात्रा के समापन पर ऐलान किया कि वह भी हर महीने लंबी साइकिल यात्रा पर निकलेंगे। उन्होंने कहा​ कि गरीब, किसान और हर वर्ग को झूठ से बचाना है। इस दौरान अखिलेश यादव ने अपने सरकारी बंगले को लेकर ​कहा कि पता नहीं लोगों को क्यों मेरा घर अच्छा लगा। लोगों ने राजनाथ सिंह और कल्याण सिंह का घर नहीं मांगा बस मेरे बंगले में ही सब की नजर लगी हुई है।
‘कुछ लोग मेरे घर में कुदाल और हथौड़ा लेकर गए थे’
अखिलेश ने कहा कि कुछ लोग मेरे घर में कुदाल और हथौड़ा लेकर गए थे। रात में जो लोग हथौड़ा लेकर गए थे, उनका नाम उजागर होना चाहिए। हथौड़ा ले जाने वाले का नाम उजागर करने पर समाजवादी लोग 11 लाख ईनाम देंगे। अखिलेश यादव ने घर में तोड़फोड़ करने वाले पर ईनाम घोषित किया। हमसे जो घर छीना गया, वो हमारा घर नहीं सरकारी था। हमने कोई अवैध निर्माण नहीं कराया।
अखिलेश यादव ने कहा कि हमने सभी एनओसी का सबूत दे दिया। एलडीए से अनापत्ति प्रमाण पत्र लिया था। जब घर खाली किया तो रात में कुछ लोग हथौड़ा लेकर हमारे घर में गए। रात में हथौड़ा लेकर कौन हमारे घर में गया। अगर कोई पत्रकार हमें बता देगा तो हम 11 लाख का इनाम देंगे। उनके मंत्री चिठ्ठी लिखकर हमारा घर मांग रहे हैं। उनको राजनाथ सिंह, कल्याण सिंह का घर नहीं पसन्द आया। हमारा घर पसन्द आया, तो समझो काम किसने किया?
हमें बताओ किस बैंक ने लोन दिया?’
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री हर जगह झूठ बोलते हैं। दुनिया के सबसे बड़े प्लेटफार्म पर बोल दिया कि 600 करोड़ लोगों ने हमे वोट दिया। हमें बीजेपी के खेल में नहीं उलझना। गोरखपुर, फूलपुर और कैराना की तरह हराना है। वहीं यूपी सरकार की ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी पर अखिलेश ने सवाल उठाते हुये कहा कि 60 हज़ार करोड़ के इन्वेस्टमेंट का दावा किया जा रहा है। हमें बताओ किस बैंक ने लोन दिया? हमारे घर मे टोंटी ढूंढ रहे हैं, लेकिन इन्हीं के घर मे रहने वाले देश का पैसा लेकर विदेश भाग गए। भागने वालों को पासपोर्ट किसने दिए? लाखों जनधन योजना के एकाउंट बन्द हो गए। अखिलेश ने कहा कि सैमसंग के प्लांट का शिलान्यास हमारे मंत्री राजेन्द्र चौधरी ने किया था। उसका उद्घाटन प्रधानमंत्री ने किया। बताओ राजेन्द्र चौधरी बड़े या प्रधानमंत्री?
मुख्यमंत्री योगी पर भी बोला हमला
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सीएम योगी पर कहा कि ये अलग तरह के मुख्यमंत्री हैं, इन्हें कुछ समझ नहीं आता हैं। ये लोग शिलान्यास का शिलान्यास कर रहे हैं। ये सिर्फ पूजा करने वाले मुख्यमंत्री हैं। हमसे अच्छी पूजा कोई नहीं करता होगा। इनके घर में कोई पूजा करने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस वे बड़ी चीज़ है जो वो बना नही सकते हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे जब बन जाएगा, तब कई शहर एकसाथ जुड़ जाएंगे। किसी पार्टी ने इतना स्लौटर हाउस से चंदा नहीं लिया होगा जितना भारतीय जनता पार्टी ने लिया। अखिलेश यादव ने कहा कि कितने किसानों को आलू की कीमत मिल गई हमें बताए। प्रधानमंत्री आरक्षण की बात करते हैं हमें खुशी होती है। टेक्नोलाजी में हम बैकवर्ड नहीं हैं, मुख्यमंत्री जी टेक्नोलॉजी में बैकवर्ड हैं। एक्सप्रेस वे पर अखिलेश यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री एक बार एक्सप्रेसवे चले जाए भूलेंगे नही।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »