…तो इसलिए टाली यूएस ने भारत के साथ 2+2 वार्ता

वॉशिंगटन। अमेरिका ने बीते हफ्ते ही भारत के साथ होने जा रही 2+2 वार्ता को अचानक टाल दिया था। हालांकि, इसकी कोई ठोस वजह नहीं बताई गई थी लेकिन अब यह साफ हो गया है कि इसके पीछे वजह अमेरिकी विदेश मंत्री का उत्तर कोरियाई दौरा था।
व्‍हाइट हाउस के मुताबिक माइक पॉम्पिओ 5 जुलाई को उत्तर कोरिया की यात्रा पर जा रहे हैं।
भारत और अमेरिका के बीच 6 जुलाई से वार्ता होने वाली थी और पॉम्पिओ उसका अहम हिस्सा थे। ऐसे में पॉम्पिओ का सिर्फ एक दिन पहले उत्तर कोरिया का दौरा इस वार्ता को टालने की सबसे बड़ी वजह हो सकती है। यह वार्ता दोनों देशों के बीच रणनीतिक और रक्षा सहयोग को मजबूत बनाने के उद्देश्य से होने वाली थी।
वाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स नेकहा कि कोरियाई प्रायद्वीप पर परमाणु निरस्त्रीकरण के महत्वपूर्ण काम को जारी रखने के लिए विदेश मंत्री पॉम्पिओ 5 जुलाई को उत्तर कोरिया के लिए रवाना होंगे और इस दौरान किम जोंग-उन और उनकी टीम से मुलाकात करेंगे। विदेश विभाग ने पॉम्पिओ के इस दौरे की पुष्टि करते हुए कहा कि वह पांच से सात जुलाई को उत्तर कोरिया के दौरे पर होंगे। वह पांच से 12 जुलाई के दौरान तोक्यो, हनोई, अबू धाबी और ब्रसेल्स का दौरा करेंगे। पोम्पियो सात जुलाई को जापान और आठ जुलाई को दक्षिण कोरिया के अधिकारियों से मुलाकात कर सकते हैं।
बीते बुधवार, अमेरिका ने भारत को 2+2 वार्ता टालने के संबंध में जानकारी दी थी। अमेरिका ने कहा था कि अपरिहार्य कारणों की वजह से यह वार्ता टाली जा रही है और जल्द ही इसके लिए तारीख तय की जाएगी। इस वार्ता के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतरमण वॉशिंगटन जाने वाली थीं। हालांकि, इससे पहले मार्च में भी यह वार्ता टाली जा चुकी है क्योंकि उस समय ट्रंप ने तत्कालीन विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को पद से हटा दिया था।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »