…तो जफरूल इस्लाम को कान पकड़कर बाहर निकाल देता: नकवी

नई दिल्‍ली। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरूल इस्लाम के बारे में आज कहा कि अगर वह केंद्र के अधीन होते तो उन्हें कान पकड़कर निकाल दिया गया होता। जफरूल इस्लाम एक फेसबुक पोस्ट के कारण विवादों में आए थे। जफरूल इस्लाम ने अपने फेसबुक पर लिखा था कि जिस दिन मुसलमानों ने अरब देशों से अपने खिलाफ जुल्म की शिकायत कर दी, सैलाब आ जाएगा।
नकवी ने एक निजी चैनल से बातचीत में कहा कि अगर जफरूल इस्लाम उनके मंत्रालय के अधीन होते तो वह उन्हें कान पकड़कर निकाल देते। उन्होंने कहा कि जफरूल इस्लाम की नियुक्ति दिल्ली सरकार ने की है और उन पर कार्यवाही का हक भी उसे ही है। देश के संघीय ढांचे में केंद्र और राज्यों को अलग-अलग जिम्मेदारी दी गई है और उन्हें उसी के मुताबिक काम करना होता है।
जफरूल इस्लाम का बयान
उल्लेखनीय है कि जफरूल इस्लाम ने 28 अप्रैल को एक पोस्ट में लिखा था, ‘भारतीय मुस्लिमों के साथ खड़े होने के लिए धन्यवाद कुवैत। हिंदुत्व विचारधारा के लोग सोचते हैं कि कारोबारी हितों की वजह से अरब देश भारत के मुस्लिमों की सुरक्षा की चिंता नहीं करेंगे। वो भूल गए भारतीय मुस्लिमों का अरब और मुस्लिम देशों से कैसे रिश्ते हैं। जिस दिन मुसलमानों ने अरब देशों से अपने खिलाफ जुल्म की शिकायत कर दी, सैलाब आ जाएगा।’ उनके इस बयान का भाजपा ने कड़ा विरोध किया था।
हजम नहीं हो रही मोदी की लोकप्रियता
नकवी ने कहा कि कुछ लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लोकप्रियता हजम नहीं हो रही है। 2014 से ही ये लोग देश की हर प्रकार से बदनाम करने की फिराक में रहते हैं। देश समावेशी विकास के रास्ते पर जा रहा है और मोदी देश और दुनिया के बड़े नेता बन चुके हैं। प्रधानमंत्री की अपील पर करोड़ों लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ी, स्वच्छता अभियान को मिशन बनाया, खुले में शौच से देश को मुक्ति दिलाई। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मोदी की एक अपील पर लोगों ने जनता कर्फ्यू को सफल बनाया।
समस्याओं की जड़ था अनुच्छेद 370
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले एक साल में कई उपलब्धियां हासिल की हैं। जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 सभी समस्याओं की जड़ था। देश की संसद गरीबों, किसानों, मजदूरों और महिलाओं के लिए कानून बनाती थी लेकिन वह वहां लागू नहीं होता था। अब यह समस्या दूर हो गई है। अब देश में झंडे खत्म हो गए हैं और केवल तिरंगा लहरा रहा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *