भारतीयों की नींद छीन रही है उनकी एक आदत

अगर आप भी दिनभर ऑफिस में काम करने के बाद जब रात को घर वापस आते हैं तो अपनी थकान मिटाने के लिए अपना फेवरिट फूड ऑर्डर करके अपनी फेवरिट ऑनलाइन वेब सीरीज देखने लग जाते हैं तो अपनी इस आदत को आज ही बदल दीजिए।
ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं कि क्योंकि देर रात तक कुछ अटर-शटर खाते हुए टीवी या वीडियो देखना न सिर्फ आपकी आंखों के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है बल्कि इसका आपकी सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है।
आपको बता दें कि ये ऑनलाइन वेब सीरीज, फिल्म्स और वीडियोज देखने की आदत आपकी नींद की सबसे बड़ी दुश्मन है।
एक फेमस मोबाइल हेल्थ और फिटनेस ऐप की तरफ से करवाई गई स्टडी की मानें तो वीडियो स्ट्रीमिंग सर्विसेज की वजह से बड़ी संख्या में भारतीय नींद से वंचित हो रहे हैं और इसका उनकी ओवरऑल सेहत पर बुरा असर पड़ रहा है। इतना ही नहीं, ऑनलाइन वीडियो सर्विस के साथ-साथ ऑनलाइन फूड डिलिवरी सर्विसेज की भी इतनी ज्यादा अधिकता हो गई है लोग चौबीसो घंटे जंक और प्रोसेस्ड फूड का सेवन करते रहते हैं। वीडियो और जंक फूड इन दोनों के कॉम्बिनेशन की वजह से लोगों में देर तक निष्क्रिय बैठे रहने की आदत बढ़ रही है जिसका आपकी सेहत पर गंभीर असर पड़ रहा है।
सेहत से हो रहे खिलवाड़ पर लगाएं रोक
इस रिसर्च में एक बार फिर इस बात पर भी रोशनी डाली गई कि इन ऑनलाइन वीडियो स्ट्रीमिंग सर्विस, वेब सीरीज और विडियो प्लेटफॉर्म्स की बढ़ती पैठ में बदलाव करने की सख्त जरूरत है ताकि लोगों की सेहत से हो रहे खिलवाड़ को रोका जा सके। हमारी सलाह आपको यही है कि ऑफिस से घर वापस लौटते वक्त, मेट्रो या कैब में अपनी फेवरिट वेब सीरीज के एपिसोड्स देख लें। लेकिन घर आने के बाद और डिनर के बाद पूरा फोकस अपनी नींद पर रखें।
स्क्रीन टाइम लिमिट करें और नींद पर फोकस करें
इसके अलावा आप चाहें तो अपने लिए हर दिन का एक टाइम लिमिट सेट कर सकते हैं कि आपको हर दिन कितनी देर विडियो स्ट्रीमिंग सर्विस का यूज करना है या कितनी देर ऑनलाइन वीडियोज और वेब सीरीज या फिल्में देखनी है। एक बार ये नियम बना लिया है फिर स्ट्रिक्टली उसे फॉलो भी करें। आप चाहें तो टाइम के साथ-साथ एपिसोड पर डे की लिमिट भी तय कर सकते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *