भारत को ‘गरीब देश’ बताना महंगा पड़ा स्नैपचैट को, रेटिंग गिरी

Snapchat costlier to India by calling it 'poor country'
भारत को ‘गरीब देश’ बताना महंगा पड़ा स्नैपचैट को, रेटिंग गिरी

नई दिल्ली। स्नैपचैट के सीईओ इवान स्पीगल द्वारा भारत को ‘गरीब देश’ कहने वाली खबर के एक दिन बाद, कंपनी की ऐप स्टोर पर रेटिंग गिर गई है। भारत में बिजनस बढ़ाने पर इवान ने कहा था कि स्नैपचैट भारत जैसे ‘गरीब देश’ के लिए नहीं है। भारत में लोगों ने इवान की इस बयान की सोशल मीडिया पर आलोचना करते हुए ऐप को अनइंस्टॉल कर बेकार रेटिंग देना शुरू कर दिया। रविवार सुबह से ही ट्विटर, फेसबुक पर #boycottsnapchat और #Uninstallsapchat ट्रेंड कर रहा है।
गूगल ऐप स्टोर पर स्नैपचैट की इन्फो पर ध्यान दें तो ऐप के करंट वर्जन की रेटिंग ‘सिगंल स्टार’ (6,099 रेटिंग्स के मुताबिक) है। रविवार सुबह तक स्नैपचैट की सभी वर्जन की रेटिंग ‘डेढ़ स्टार’ (9,527 रेटिंग्स के मुताबिक) है। साफ कर दें कि स्नैपचैट की ओवरऑल रेटिंग ‘फोर स्टार’ है जो 1,19,32,996 रेटिंग्स पर आधारित है।
हालिया विवाद की शुरुआत अमेरिका की न्यूज वेबसाइट वैराइटी में पब्लिश हुई खबर के बाद हुई। इस खबर में वैराइटी ने स्नैपचैट के पूर्व एंप्लॉयी के हवाले से लिखा था कि कंपनी के सीईओ इवान स्पीगल ने सितंबर 2015 में एक मीटिंग के दौरान कहा था, ‘स्नैपचैट केवल अमीरों के लिए है। मैं इसका बिजनस भारत और स्पेन जैसे गरीब देशों में नहीं फैलाना चाहता।’
शनिवार को इस खबर के फैलने के बाद से ही लोगों ने स्नैपचैट के खिलाफ गुस्सा निकालना शुरू कर दिया था। फेसबुक और ट्विटर के अलावा लोग गूगल प्ले स्टोर में भी स्नैपचैट के खिलाफ लिख रहे हैं। लोग फोटो डाल कर दिखा रहे हैं कि उन्होंने स्नैपचैट को अनइंस्टॉल कर रेटिंग भी कम कर दी है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *