धूम्रपान करने वालों को कोरोना का खतरा अधिकः डॉ. मनेश लाहौरी

मथुरा। के.डी. मेडिकल कॉलेज तथा के.डी. डेंटल कॉलेज में सोमवार को वेबिनार के माध्यम से विश्व तम्बाकू निषेध दिवस मनाया गया। के.डी. डेंटल कॉलेज में डीन डॉ. मनेश लाहौरी के प्रयासों से 26 से 31 मई तक तम्बाकू जागरूकता सप्ताह के अंतर्गत विविध कार्यक्रम हुए। सोमवार को प्रसिद्ध वक्ता डॉ. अरुणा डी.एस. ने डेंटिस्ट्स क्विट टोबैको इंटरवेंशन एण्ड यू टर्न ऑफ निकोटिन एडिक्शन विषय पर स्नातक और स्नातकोत्तर छात्र-छात्राओं को बताया कि दुनिया में तम्बाकू ही एकमात्र ऐसा उद्योग है जो अपने ग्राहकों को मारता है।

के.डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के मानसिक रोग विभागाध्यक्ष डॉ. मुकेश बत्रा ने कहा कि तम्बाकू न केवल स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है बल्कि इंसान को आर्थिक तंगहाल तथा पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने में भी सहायक है। उन्होंने कहा कि तम्बाकू छोड़ना अब मुश्किल नहीं है, ऐसी बहुत सी दवाएं आ गई हैं जिनसे बीड़ी, सिगरेट और तम्बाकू की लत को आसानी से छोड़ा जा सकता है। उन्होंने बताया कि के.डी. हॉस्पिटल में तम्बाकू तथा धूम्रपान से परेशान लोगों की जांच और उपचार की सभी सुविधाएं हैं जिसका लोग लाभ उठा सकते हैं।

के.डी. डेंटल कॉलेज के डीन डॉ. मनेश लाहौरी ने विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि तम्बाकू से सम्बनिधित बीमारियों से हर साल करीब 60 लाख लोगों की मौत हो जाती है। उन्होंने बताया कि आज के परिप्रेक्ष्य में देखें तो धूम्रपान करने वालों को कोरोना संक्रमण का खतरा अधिक हो रहा है। धूम्रपान के समय होठों के साथ उंगलियों का सम्पर्क हाथ से मुंह में वायरस के संचरण को बढ़ाता है। धूम्रपान फेफड़ों के कार्य को भी बाधित करता है। इस वर्ष विश्व तम्बाकू निषेध दिवस का विषय “छोड़ने के लिए प्रतिबद्ध” है।

विभागाध्यक्ष स्वास्थ्य दंत चिकित्सा डॉ. नवप्रीत कौर के मार्गदर्शन में के.डी. डेंटल कॉलेज के स्नातक तथा स्नातकोत्तर छात्र-छात्राओं ने सप्ताह भर चली ई-पोस्टर, स्लोगन राइटिंग, इंट्राग्राम रील, वर्चुअल टी शर्ट डिजाइनिंग और इन्फोग्राफिक डिजाइनिंग प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया। इसके अलावा कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने मौलाना आजाद इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंसेज, दिल्ली द्वारा आयोजित इंटर कॉलेज प्रतियोगिताओं तथा एल्सेवियर द्वारा आयोजित प्रतियोगिता में भी भाग लिया। जन स्वास्थ्य दंत चिकित्सा विभाग के स्नातकोत्तर विद्यार्थियों ने इस वर्ष की थीम के महत्व पर बल देते हुए आम जनता के लिए विभाग प्रमुख डॉ. नवप्रीत कौर के मार्गदर्शन में एक शैक्षिक वृत्तचित्र तैयार किया। कार्यक्रम का समापन प्रसिद्ध वक्ता डॉ. अरुणा डी.एस. द्वारा प्रस्तुत “डेंटिस्ट्स क्विट टोबैको इंटरवेंशन एण्ड यू टर्न ऑफ निकोटिन एडिक्शन” शीर्षक पर आयोजित एक वेबिनार के साथ हुआ। इस वेबिनार को सफल बनाने में संस्थान के प्राध्यापकों के साथ ही प्रशासनिक अधिकारी नीरज छापड़िया का विशेष सहयोग रहा।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *