भारत के एक सैन्‍य अधिकारी का थप्पड़ पड़ते ही सबकुछ उगल बैठा था मसूद अजहर

नई दिल्‍ली। जम्मू-कश्मीर के युवाओं को बहकाकर भारत में आतंकी हमले कराने वाला जैश ए मुहम्मद का सरगना मसूद अजहर बहुत ही डरपोक आदमी है। भारत को बरबाद करने की धमकी देने वाला मसूद अजहर जब पहली बार सुरक्षा बलों की गिरफ्त में पहुंचा था तो उसकी सारी हेकड़ी चली गई थी। सेना के एक अधिकारी का एक थप्पड़ पड़ते ही वह टूट गया और अपनी आतंकी गतिविधियों के बारे में सबकुछ बक दिया था। उससे पूछताछ करने वाले पुलिस के एक पूर्व अधिकारी ने यह बात बताई।
अधिकारी के मुताबिक मसूद अजहर को फरवरी 1994 में दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में गिरफ्तार किया गया था। वह पुर्तगाल के पासपोर्ट पर बांग्लादेश के रास्ते भारत में घुसा था और फिर कश्मीर चला गया था। सिक्किम पुलिस के महानिदेशक रहे अविनाश मोहनाने ने बताया कि गिरफ्त में आने के बाद सुरक्षा एजेंसियों को उससे जानकारी उगलवाने में किसी तरह की सख्ती नहीं बरतनी पड़ी।
वह बताते हैं कि सेना के एक अधिकारी का थप्पड़ पड़ते ही उसने सबकुछ बक दिया था। मसूद ने विस्तार से बताया था कि पाकिस्तान से आतंकी संगठन अपनी गतिविधियों को किस तरह अंजाम दे रहे थे। उन्हें किस-किस की मदद मिलती थी।
खुफिया ब्यूरो (आइबी) में दो दशक तक रहने वाले मोहनाने ने मसूद अजहर से कई बार पूछताछ की थी। मोहनाने के मुताबिक मसूद ने पूछताछ में बताया था कि पुलिस उसे बहुत दिनों तक गिरफ्त में नहीं रख सकती है। उसने खुद को पाकिस्तान और आईएसआई के लिए बहुत महत्वपूर्ण बताया था। उसके कुछ दिन बाद ही आतंकियों ने 10विदेशी सैलानियों का अपहरण कर उसे छोड़ने की मांग की थी।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »