चिन्मयानंद केस में SIT गठित, आईजी नवीन अरोड़ा होंगे अध्‍यक्ष

लखनऊ। प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद पर लगे आरोपों की जांच एवं विवेचना के लिए मंगलवार को SIT गठित कर दी। आईजी लोक शिकायत नवीन अरोड़ा इसके अध्यक्ष होंगे। साथ ही उन्हें कमेटी के अन्य सदस्यों का चयन करने का अधिकार दिया गया है। वहीं राज्य सरकार ने पीड़िता व उसके भाई का महात्मा ज्योतिबा फुले विश्वविद्यालय व उससे संबद्ध महाविद्यालय में प्रवेश देने के भी निर्देश दिए हैं।
सुप्रीम कोर्ट ने शाहजहांपुर के सुखदेवा नंद ला कालेज में पढ़ रही विधि छात्रा एवं उसके भाई द्वारा प्रबंध तंत्र पर लगाए गए आरोपों की SIT बनाकर जांच करने के आदेश दिए थे। इस पर कार्यवाही करते हुए प्रदेश सरकार ने SIT का गठन कर दिया है। मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने पुलिस महानिदेशक मुख्यालय में तैनात आईजी लोक शिकायत नवीन अरोड़ा के नेतृत्व में एक विशेष जांच दल का गठन कर दिया है। इसमें 41वीं वाहिनी पीएसी गाजियाबाद में तैनात सेनानायक भारती सिंह को सदस्य बनाया गया है।
इसके अलावा शासन ने यह भी निर्देश दिए हैं कि आईजी नवीन अरोड़ा एसआईटी में स्वच्छ छवि के अन्य पुलिस अधिकारियों को भी नामित कर सकेंगे। इस SIT की जिम्मेदारी होगी कि वह शाहजहांपुर प्रकरण में लगाए गए आरोपों के अलावा दर्ज सभी मुकदमों की निष्पक्ष विवेचना करेगी।
मुख्य सचिव ने बरेली मंडल के आयुक्त व महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखंड विश्वविद्यालय बरेली के कुलपति को भी यह निर्देश दिए हैं कि पीड़ित छात्रा व उसके भाई को विश्वविद्यालय अथवा उससे संबद्ध महाविद्यालय में तुरंत प्रवेश दिया जाए। इसी के साथ शाहजहांपुर के पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए गए हैं कि पीड़ित छात्रा, उसके माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्यों को भी समुचित सुरक्षा दी जाए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »