रक्षाबंधन पर बहनें भाइयों को Helmet उपहार में दें : मनोज मोहन

वृंदावन। वृंदावन में श्रीधाम में आयोजित भागवत कथा के दौरान अंतरराष्ट्रीय भागवत आचार्य डॉक्टर मनोज मोहन शास्त्री ने कहा क‍ि इस रक्षाबंधन पर सभी बहनें अपने भाइयों को Helmet का उपहार दें।

डॉक्टर मनोज मोहन शास्त्री ने देश में पहली बार देश की विकराल समस्या को भागवत कथा के दौरान कहा क‍ि देश में सबसे अधिक सड़क हादसे होने के कारण हर वर्ष डेढ़ लाख लोगों की जान चली जाती है जो विश्व में सबसे अधिक है। इन दुर्घटनाओं में देश के नौजवान सड़क हादसों में आए दिन मर रहे हैं। इसमें सबसे बड़ा कारण क‍ि लोग यातायात नियमों का पालन नहीं करते हैं इसलिए आए दिन सड़क हादसे घटित हो रहे हैं।

उन्होंने पूरे परिवार को यातायात नियमों का पालन करने का अनुरोध किया, साथ ही महिलाओं को हिदायत दी कि जब भी आपके पति बच्चे और घर के पुरुष काम के लिए बाहर निकलें तो टू व्हीलर वाहन पर हेलमेट के साथ ही फोर व्हीलर चलाते समय सीट बेल्ट का प्रयोग करें। आप सुरक्षित हैं तो परिवार सुरक्षित है इसलिए हर व्यक्ति को इन नियमों के साथ साथ यातायात नियमों का पालन करना चाहिए। आने वाले रक्षाबंधन पर सभी माता बहनें अपने भाइयों के लिए इस रक्षाबंधन मिठाई के साथ इस बार अधिक से अधिक संख्या में Helmet उपहार में दें। राखी बांधते समय भाइयों की रक्षा का वचन लें क‍ि जब भी वह टू व्हीलर वाहन चलाएंगे तो हेलमेट का उपयोग करेंगे। सड़क पर जब भी चलेंगे यातायात नियमों का पालन करेंगे जिससे सड़क दुर्घटनायें कम हो सकेंगी। घर का मुखिया सुरक्षित तो पूरा परिवार सुरक्षित।

इस अवसर पर ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जन जागरूकता समिति उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष विनोद दीक्षित के नेतृत्व में इस अनोखी पहल के लिए अंतरराष्ट्रीय भागवताचार्य डॉ मनोज मोहन शास्त्री को इस यादगार पल के लिए तस्वीर भेंट करके दुपट्टा पहनाकर सम्मानित क‍िया।

भागवताचार्य डॉ मनोज मोहन शास्त्री से कहा अपनी मुहिम को आगे बढ़ाने वह पूरे देश में इसका प्रचार-प्रसार अपने माध्यम से हर भागवत कथा में करिएगा इसके लिए हम आपको पूरी टीम की तरफ से बधाई देते हैं ।

ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जन जागरूकता समिति की टीम से सम्मानित करने वालों में मनोज शर्मा , हेमंत अग्रवाल , राहुल शर्मा, मुकेश शर्मा ,अशोक तिवारी आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »