फिल्‍म अभिमान के एक श्लोक से फेमस हुई गायिका Anuradha Paudwal का जन्‍मदिन आज

नई दिल्‍ली। मशहूर सिंगर Anuradha Paudwal आज अपना 64वां बर्थडे मना रही हैं, 27 अक्टूबर 1954 को जन्मीं अनुराधा ने अमिताभ बचचन और जया स्टारर फिल्म ‘अभिमान’ से अपने करियर की शुरुआत की थी।

Anuradha Paudwal के पति अरुण पौडवाल मशहूर संगीतकार एसडी बर्मन के असिस्टेंट थे। अरुण खुद भी एक म्यूजिक कंपोजर थे

1973 में अमिताभ बच्चन और जया भादुड़ी की ‘अभिमान’ फिल्म आने वाली थी और इसके लिए एसडी बर्मन संगीत तैयार कर रहे थे। इसी बीच बर्मन को वह श्लोक याद आया जो उनके असिस्टेंट अरुण ने पत्नी अनुराधा की आवाज में रिकॉर्ड कर रखा था।

एक श्लोक ने दिलाई पहचान
अरुण पौडवाल से कहकर एसडी बर्मन ने अनुराधा को स्टूडियो बुलवाया और उनसे फिल्म के लिए रिकॉर्ड करवाया। उन्होंने फिल्म में ऐसी जगह श्लोक को फिट किया कि हर कोई उस आवाज का मुरीद हो गया। इस कुछ सेकंड्स की आवाज ने अनुराधा पौडवाल को खासी पहचान दिलाई।

गानों की लगी झड़ी
शौकिया तौर पर संगीत में रुचि लेने वाली अनुराधा पौडवाल की आवाज इतनी पसंद आई कि उन्हें कल्याणजी-आनंदजी, लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल और नदीम-श्रवण जैसे दिग्गज संगीतकारों के यहां से गाने के ऑफर आने लगे। इसके बाद उन्होंने सैकड़ों एक से एक हिट गाने दिए।

पति की मौत
नब्बे के दशक में अनुराधा पौडवाल अपने करियर के पीक पर थीं, उसी समय उनके पति अरुण की एक एक्सीडेंट में मौत हो गई। इसके बाद अनुराधा पर पूरी तरह परिवार का बोझ आ टिका। अनुराधा के एक बेटा और बेटी हैं।

गुलशन कुमार से करीबी
पति के मौत के बाद अनुराधा पौडवाल ने टी सीरीज कंपनी के मालिक गुलशन कुमार के लिए काम करना शुरू कर दिया। उन दिनों इस सिंगर की गुलशन के साथ नजदीकियों की चर्चा भी रही हालांकि दोनों ने कभी खुले तौर पर इसको स्वीकार नहीं किया।

भक्ति गानों से नुकसान
फिल्मी दुनिया की प्लेबैक सिंगर अनुराधा पौडवाल ने घोषणा कर दी कि वह सिर्फ टी-सीरीज के लिए ही गाना गाएंगी। इसके बाद वह केवल भक्ति गीत ही गाने लगीं। इसी बीच गुलशन कुमार की हत्या कर दी गई। अब अनुराधा ने भक्ति गीतों पर ही फोकस करना शुरू कर दिया था।

इसलिए बनाई प्लेबैक सिंगिंग से दूरी
एक इंटरव्यू में अनुराधा पौडवाल ने बताया था, ”म्यूजिक ऑरिएंटेड फिल्में न होने की वजह से मैंने प्लेबैक सिंगिंग छोड़ दी है। अब पहले की तरह गाने का संगीत और बोल मीठे नहीं होते। मुझे भक्ति गीतों में अब वह आनंद मिलता है।”

अनुराधा पौडवाल ने करियर के टॉप रहते छोड़ा गाना
अनुराधा पौडवाल ने करियर के शिखर पर रहते प्लेबैक सिंगिंग से दूरी बना ली। इसके पीछे उन्होंने वजह बताई कि एक मुकाम पर काम छोड़ने के बाद लोग उसे याद रखते हैं। अनुराधा पौडवाल ने ‘दिल धक-धक करने लगा’ ‘जिस दिन तेरी मेरी बात’, चाहा है तुझको, तू मेरा हीरो जैसे सदाबहार गाने गाए थे। इस मशहूर सिंगर को पद्मश्री पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है। इसके अलावा उन्होंने ‘आशिकी’, ‘दिल है कि मानता नहीं’ और ‘बेटा’ के लिए तीन फिल्मफेयर अवॉर्ड जीते थे।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »