Sindhi Academy के उपाध्यक्ष मथुरा आए

लखनऊ से U.P. Sindhi Academy के उपाध्यक्ष का मथुरा आगमन, सिन्धी बोली को बनाएं पहचान – नानक चंद्र लखमानी

मथुरा। सिन्धी जनरल पंचायत द्वारा मथुरा के डेम्पीयर नगर स्थित एक होटल में “सिन्धी सभ्यता और बोली” विषयक संगोष्ठी आयोजित की गई।

संगोष्ठी में मुख्य अतिथि लखनऊ से उ.प्र. Sindhi Academy के उपाध्यक्ष नानक चंद्र लखमानी सहित अकादमी के लेखाकार महेंद्र कुमार वर्मा, आगरा से उ.प्र. Sindhi Academy के सदस्य हेमंत भोजवानी, सिन्धी साहित्यकार रामचंद्र छाबड़िया, सिन्धी कवि घनश्याम दास जेसवानी आदि सम्मानित अतिथि शामिल हुए।

सर्वप्रथम संगोष्ठी के एंकर किशोर इसरानी ने आए हुए अतिथियों का परिचय देते हुए उन्हें मंच पर आसीन कराया और भगवान झूलेलाल जी के जयकारे तथा स्वामी लीलाशाह जी की प्रार्थना कराने के उपरांत सिन्धी जनरल पंचायत के पदाधिकारियों ने आए हुए अतिथियों का पाटुका पहनाकर स्वागत किया।

लखनऊ से आए उ.प्र. सिन्धी अकादमी के उपाध्यक्ष नानक चंद्र लखमानी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि सिन्धी सभ्यता और बोली ही सिन्धी समुदाय की पहचान है, अगर हम सिन्धी बोलना ही बंद कर देंगे, तो हमारी पहचान ही खो जायेगी, इसलिए घर-परिवार और अपनों के बीच सिन्धी में ही बातचीत करें।

अकादमी के उपाध्यक्ष बनने के बाद उत्तर प्रदेश के दौरे पर निकले नानक चंद्र लखमानी ने कहा कि सिन्धी सभ्यता और बोली को बचाने का एक ही तरिका है कि हम सिन्धी समुदाय को संगठित करें, इसके लिए आपस में मेलजोल बढ़ाएं।

आगरा से उ.प्र. सिन्धी अकादमी के सदस्य हेमंत भोजवानी ने कहा कि सिन्धी भाषा को मिटने न दें, इसके लिए सिन्धी पहनावे और व्यंजनों को बढ़ावा देने वाली प्रतियोगिता और सिन्धी कार्यक्रम आयोजित कर प्रचार-प्रसार करना होगा, इसके लिए उ.प्र. सिन्धी अकादमी के माध्यम से प्रदेश सरकार का पूरा सहयोग मिलेगा।

सिन्धी साहित्यकार रामचंद्र छाबड़िया ने बताया कि संसार की सबसे बड़ी वर्णमाला सिन्धी भाषा में है, जिसका अस्तित्व भारत की प्राचीन सभ्यता मोहन जोदड़ो से जुड़ा है।

सिन्धी कवि घनश्याम दास जेसवानी ने सिन्धी बचाओं-सिन्धी बढ़ाओंऔर किशोर इसरानी ने इंसान बनों, सिन्धी भाषा में कविता प्रस्तुत की।

पंचायत उपाध्यक्ष रामचंद्र खत्री ने कहा कि सिन्धी अकादमी से सिन्धी भाषा और सभ्यता का उत्थान होगा।

पंचायत अध्यक्ष नारायण दास लखवानी ने कहा कि नानक चंद्र लखमानी जी जो प्रदेश के सिन्धी समुदाय में जागृति ला रहे है, इससे नई पीढ़ी लाभान्वित होगी। मथुरा पंचायत द्वारा बहुत जल्द बच्चों का सिन्धी भाषा में कार्यक्रम कराया जाएगा। अंत में अध्यक्ष नारायण दास लखवानी ने सबका आभार व्यक्त किया। संचालन मीडिया प्रभारी किशोर इसरानी ने किया।

संगोष्ठी में नारायणदास लखवानी, रामचंद्र खत्री, तुलसीदास गंगवानी, जीवतराम चंदानी, बसंत मंगलानी, किशोर इसरानी, चंदनलाल आडवानी, झामनदास नाथानी, अशोक अंदानी, जितेंद्र लालवानी, किशन भाटिया, सुनील पंजवानी, गोपाल भाटिया, लीलाराम लखवानी, रमेश नाथानी, मिर्चुमल, पीताम्बर रोहेला, अनिल मंगलानी, बेबू भगवान, कन्हैया एडवोकेट, सुरेश मनसुखानी, सुंदर खत्री, गोविंद चंदानी, विष्णु हेमानी, गिरधारी, सुमित इसरानी आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »