घाटी में सीजफायर: डीजीपी ने कहा, हम वही करेंगे जो हमें सही लगेगा

जम्मू। रमजान के महीने में घाटी में सीजफायर का ऐलान करने के केंद्र सरकार के फैसले पर जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने खुशी जाहिर करते हुए सकारात्मक परिणाम की उम्मीद जताई है। हालांकि उन्होंने आतंकियों के नापाक मंसूबों के खिलाफ सख्त कार्यवाही के संकेत दिए। लश्कर द्वारा सीजफायर का बहिष्कार किए जाने पर उन्होंने कहा कि ‘हम वही करेंगे जो हमें सही लगेगा।’
रविवार को मीडिया से बात करते हुए डीजीपी ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि केंद्र के इस फैसले से लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।’
डीजीपी ने रमजान के महीने के बीच ही शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा के बारे में बात करते हुए कहा, ‘केंद्र के इस फैसले के बाद हमें उम्मीद है कि अमरनाथ यात्रा को शांतिपूर्ण तरीके से पूरा कराया जा सकेगा और घाटी में भी एक बेहतर माहौल स्थापित करने में मदद मिलेगी।’ आपको बता दें कि डीजीपी एसपी वैद से पहले भारतीय सेना ने भी घाटी में एकतरफा सीजफायर के फैसले को सही बताते हुए इसकी प्रशंसा की थी।
‘हम वही करेंगे जो हमें सही लगता है’
वहीं, आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा द्वारा केंद्र के फैसले का बहिष्कार किए जाने पर एसपी वैद ने कहा, ‘लश्कर का बयान उसकी अपनी सोच है और हम वही करेंगे जो हमें सही लगता है।’
बता दें कि 16 मई को केंद्र द्वारा जम्मू-कश्मीर में सीजफायर का ऐलान किए जाने के बाद लश्कर-ए-तैयबा ने इस फैसले का विरोध किया था। लश्कर ने सीजफायर के बहिष्कार का ऐलान करते हुए घाटी में सुरक्षाबलों पर हमला जारी रखने की बात कही थी।
भारतीय सेना ने भी की निर्णय की प्रशंसा
18 मई को केंद्र के फैसले की प्रशंसा करते हुए भारतीय सेना के चीफ ऑफ इंटिग्रेटिड डिफेंस स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने कश्मीर में आतंक की राह चुनने वाले तमाम युवकों से मुख्यधारा में वापस लौटने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि आतंकवाद का रास्ता अपनाने वाले कश्मीरी युवा ‘हमारे बच्चे’ हैं लेकिन वह राह से भटक गए हैं। रमजान के दौरान सरकार ने सीजफायर का जो ऐलान किया है, वह इन भटके हुए युवाओं के लिए मुख्यधारा में वापस लौटने का एक मौका है।
सरकार ने की है सशर्त सीजफायर की घोषणा
जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती की अपील के बाद सरकार ने जम्मू-कश्मीर में रमजान के महीने के दौरान सशर्त रूप से एकतरफा सीजफायर की घोषणा की थी। सरकार के इस फैसले की जानकारी देते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने 16 मई को अपने ट्वीट में लिखा था कि ‘सरकार ने जम्मू-कश्मीर में रमजान के दौरान सशर्त एकतरफा सीजफायर का ऐलान किया है। हालांकि इस ऐलान के बाद भी सुरक्षाबल खुद पर हुए हमलों और कानून व्यवस्था के खराब होने की स्थितियों में मनचाही कार्यवाही करने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र हैं।’
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »