भगवान शिव की आराधना का शुभ संयोग लेकर आ रहा है श्रावण मास

भगवान शिव की आराधना का पावन मास सावन इस साल शुभ संयोग के साथ शुरू होगा। पंडितों की मानें तो इस बार का सावन कुछ ज्यादा ही शुभ फलदायक है क्योंकि ज्येष्ठ अधिमास के बाद सावन पूरे तीस दिन का होगा। यह संयोग 19 साल बाद बन रहा है।  28 जुलाई से शुरू हो रहे इस पवित्र माह की पहली सोमवारी 30 जुलाई को आएगी।

दूसरी सोमवारी 6 अगस्त, तीसरी 13 अगस्त और चौथी व आखिरी सोमवारी 20 अगस्त को होगी। सावन के इस चार सोमवार को भगवान शिव की विशेष आराधना की जायेगी। ऐसी मान्यता है कि सावन में सोमवार को व्रत रखने और शिवलिंग पर जल चढ़ाने से घर में सुख – समृद्वि आती है। पंचागों के मुताबिक, इस बार सावन के कृष्ण पक्ष में दूज दो दिन 29 व 30 जुलाई को रहेगी। मालूम हो कि पिछले साल सावन 10 जुलाई से शुरू होकर सात अगस्त तक 29 दिन का था।

हिन्दू धर्म में है सावन का खास महत्व
हिन्दू धर्म में सावन माह का खास महत्व है। इस माह में भगवान शंकर की पूजा करने वाले भक्तों को मनोनूकुल जीवनसाथी मिलता है। साथ ही उनके जीवन में सुख-समृद्वि बढ़ती है। विवाहित महिलायें यदि इसी महीने में सोमवार व्रत रखती हैं तो उन्हें भगवान शिव सौभाग्य का वरदान देते हैं। कई लोग इस माह के पहले सोमवार से सोलह सोमवार व्रत की शुरुआत करते हैं। सावन महीने की खास बात यह है कि इस महीने में मंगलवार का व्रत देवी पार्वती के लिए किया जाता है, जिसे मंगला गौरी व्रत के नाम से भी लोग जानते हैं।

शिव मंदिरों की विशेष होगी सजावट
शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में सावन में शिव मंदिरों की सजावट देखते ही बनती है। आकर्षक व भव्य तरीके से लोग मंदिरों की सजावट करते हैं। कई मंदिरों के पास मेला भी लगा रहता है।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »