धूमधाम से मना ब्रज के ठाकुर राधा रमण जी का श्रावण उत्सव

मथुरा/वृंदावन। विश्व को प्रभावित करने वाली बीमारी कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन में विश्व मे पहला मंदिर बना ठाकुर राधा रमण जी का जिसमेंं स्वयं ठाकुर जी के लाड़ लड़ाने व रिझाने को छप्पन भोग व भव्य पुष्प बंगला सजाया गया। मंदिर के 450 वर्षों के इतिहास में ऐसा ”ऑनलाइन उत्सव” पहली बार हुआ।

pundareek-goswami
ठाकुर राधा रमण जी मंदिर के सेवायत पुण्डरीक गोस्वामी सेवा करते हुए

मंदिर में पुण्डरीक गोस्वामी ने प्रभु के सुगंधित फूल बंगला सजाकर अपने आराध्य को गर्मी में शीतलता प्रदान की श्रावण मास को मंदिर में सजे भव्य प्रभु के दर्शन करने को मंदिर में लॉकडाउन के चलते मंदिर बंद रहा लेकिन भक्तों ने सोशल साइड पर तांता लगा रहा।

शनिवार की संध्या को ठा.राधा रमण मंदिर में ग्रीष्म ऋतु का पहला देशी-विदेशी पुष्पों से बंगला सजाया गया। वर्षो के इतिहास में श्रावण मास का पहला फूल बंगला मंदिर के सेवायत पुण्डरीक गोस्वामी की सेवा में सजाया गया।

मंदिर के जगमोहन, चौक, सभी द्वारों के ऊपर देशी-विदेशी फूल सजाए गए। पुष्पबंगला में रायबेल, रजनीगंधा, गैंदा, घास, केला के पत्तों, गुलाब, गेंदी, जूही, जरवरा, मॉकरेट के फूलों का प्रयोग किया गया। प्रथम पुष्पबंगला के दर्शन के लिए विभिन्न क्षेत्रों से भक्तजन ऑनलाइन दर्शन करते रहे। मंदिरों में प्रभु प्रभु की मनोहारी छवि को देख भक्तों ने घर बैठे जयकारे लगाए। प्रभु दर्शन का सिलसिला फेसबुक पर देर रात तक जारी रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *