शोएब अख्तर ने कहा, बेरहम बनती जा रही है टीम इंडिया

नई दिल्‍ली। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा कि विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम धीरे-धीरे बेरहम बनती जा रही है और इस बात को उन्होंने एक बार फिर न्यू जीलैंड के खिलाफ दूसरे टी20 में एकतरफा मात देकर साबित किया।
भारत ने ऑकलैंड में खेले गए सीरीज के दूसरे टी20 इंटरनेशनल मैच में मेजबान न्यू जीलैंड को 7 विकेट से हराया और इसी के साथ पांच मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त ले ली।
पूर्व पाकिस्तानी पेसर अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘भारत बेरहम टीम बनती जा रही है, इसका सबूत न्यू जीलैंड को दूसरे टी20 मैच में दी गई हार से मिलता है। अगर आप (न्यू जीलैंड) इतने कम स्कोर पर आउट हो जाओगे तो आप भारत जैसी टीम के साथ कैसे प्रतिस्पर्धा करोगे जिसका बैटिंग लाइन-अप काफी मजबूत है।’
अख्तर ने कहा, ‘मैंने पहले ही बताया था कि कोलिन मुनरो और मार्टिन गप्टिल को लंबा चलना होगा (क्रीज पर देर तक टिकना होगा) नहीं तो भारतीय टीम को रोकना मुश्किल हो जाएगा।’
44 वर्षीय अख्तर ने साथ ही कहा कि क्रिकेट में धीरे-धीरे प्रतिस्पर्धा खत्म हो रही है क्योंकि टीमें लड़ने की क्षमता नहीं दिखा रही हैं।
पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, ‘इस समय भारत का पूरी दुनिया में दबदबा है, लेकिन दूसरी टीमों को क्या हो गया?
जब ऑस्ट्रेलिया का विश्व क्रिकेट पर दबदबा था तो कम से कम भारत और पाकिस्तान तो उसे चुनौती देते थे। हम जो न्यू जीलैंड में देख रहे हैं उसमें तो मेजबान ने पूरी तरह से भारत के सामने सरेंडर कर दिया है।’
भारत और न्यू जीलैंड के बीच सीरीज का तीसरा टी20 इंटरनेशनल मैच हैमिल्टन में 29 जनवरी को खेला जाएगा। टीम इंडिया सीरीज में पहले ही 2-0 की बढ़त बना चुकी है और तीसरे टी20 में जीत दर्ज करते ही विराट कोहली की टीम सीरीज पर कब्जा जमा लेगी।
भारतीय टीम से सीख लेने की जरूरत : टिम सिफर्ट
हैमिल्टन। न्यू जीलैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज टिम सिफर्ट ने कहा कि भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की विविधतापूर्ण गेंदबाजी को समझना मुश्किल है।
उन्होंने कहा कि मेजबान टीम को अगर टी20 सीरीज में वापसी करनी है तो उसे भारत से सीखना होगा कि परिस्थितियों से कैसे सामंजस्य बिठाया जाता है। भारत ने रविवार को ऑकलैंड में दूसरे टी20 अंतर्राष्ट्रीय में न्यू जीलैंड को 7 विकेट से हराकर 5 मैचों की सीरीज में 2-0 से बढ़त बनाई। बुमराह ने चार ओवर में 21 रन देकर एक विकेट लिया।
सिफर्ट ने कहा, ‘यहां तक कि पहले मैच में भी बुमराह ने धीमी गेंदे की। अमूमन डेथ ओवरों में गेंदबाज सीधी लाइन पर गेंद करता है। इसके अलावा यॉर्कर करता है। वह (बुमराह) अपनी गेंदों में काफी बदलाव करते हैं और उन्हें खेलना मुश्किल है।’
ऑकलैंड टी20 मैच में 26 गेंदों पर नाबाद 33 रन बनाने वाले इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा, ‘गेंद काफी रुककर आ रही थी जिससे मुश्किलें बढ़ीं। इसलिए एक बल्लेबाज के रूप में आपको कुछ अवसरों पर विकेटों से हटकर यह देखना होता कि क्या गेंद सीधी लाइन पर आ रही है। मैं विकेट पर खड़ा रहने के बजाय कुछ अलग करने में विश्वास करता हूं।’
उन्होंने कहा कि न्यू जीलैंड के बल्लेबाजों को भारतीय बल्लेबाजों से सीखना चाहिए कि परिस्थितियों से जल्द से जल्द कैसे तालमेल बिठाया जाता है।
सिफर्ट ने कहा, ‘‘भारतीय बल्लेबाजों ने दिखाया कि कैसे गेंद की लाइन में आकर सही टाइमिंग से उसे खेलना है। धीमे विकेट पर आपको इस तरह का खेल दिखाना होता है। उनकी (गेंदबाजों) लाइन बिगाड़ने की कोशिश करो, अच्छी गेंद पर भी शॉट लगाने के लिए सही स्थिति में आओ। टी20 क्रिकेट में यह महत्वपूर्ण होता है। भारतीय बल्लेबाजों ने ऐसा अच्छी तरह से किया।’
सिफर्ट ने कहा कि न्यू जीलैंड के गेंदबाजों ने पहले दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन भारतीय बल्लेबाज उन पर पूरी तरह हावी रहे।
उन्होंने कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो पहले मैच में उनका स्कोर एक विकेट पर 110 था और उनके पास विकेट बचे थे। हमने पहले मैच में खराब गेंदबाजी नहीं की थी। दूसरे मैच में हम केवल 130 रन ही बना पाए और ईडन पार्क पर इस स्कोर का बचाव करना मुश्किल था।’
सिफर्ट ने कहा, ‘हमारा लक्ष्य 170 रन तक पहुंचना था लेकिन जब केवल 130 रन बने तो ईडन पार्क पर एक मजबूत टीम के खिलाफ इसका बचाव करना मुश्किल हो गया। हमारे स्पिनरों ने हालांकि अच्छा प्रदर्शन किया पर अच्छी गेंदों पर चौके लगे।’
न्यू जीलैंड की टीम अब भी सीरीज में वापसी करने के प्रति आश्वस्त है। तीसरा मैच बुधवार को यहां खेला जाएगा जबकि अगले दो मैच वेलिंग्टन और माउंट मौनगानुई में होगा। सिफर्ट ने कहा कि उनकी टीम 2019 की सीरीज की दोहराना चाहेगी जब न्यू जीलैंड ने वापसी करके तीन मैचों की सीरीज 2-1 से जीती थी।
उन्होंने कहा, ‘हमने दो मैच गंवा दिये लेकिन हम बुरा नहीं खेले। हमने निश्चित तौर पर अपना सर्वश्रेष्ठ खेल नहीं दिखाया लेकिन भारत बहुत अच्छा खेला। अगर हम बुधवार को सीरीज गंवा देते हैं तो यही सब कुछ समाप्त नहीं हो जाएगा। अगर हम वहां जीत दर्ज करते हैं तो फिर चीजों को आगे लेकर जा सकते हैं।’ सिफर्ट ने कहा, ‘हमने पिछली बार 2-1 से सीरीज जीती थी इसलिए हमें इसे तीन मैचों की सीरीज की तरह लेना होगा लेकिन हमें यह दिमाग में रखना होगा कि पहले दो मैच हर हाल में जीतने हैं।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »