शिवराज की चिठ्ठी ने ममता बनर्जी को उलझन में डाला

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को अजीब उलझन में डाल दिया है। शिवराज ने ममता को चिट्ठी लिखकर कहा है कि वे एमपी के इंदौर में फंसे बंगाली मजदूरों की घरवापसी के लिए इंतजाम करें। पूरे देश में प्रवासी मजदूरों की घरवापसी पर उठे बवाल के बीच ममता लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर रही हैं। वे केंद्र सरकार पर मजदूरों की अनदेखी का आरोप लगाती रही हैं लेकिन शिवराज की चिट्ठी के बाद उनकी उलझनें बढ़ गई हैं।
शिवराज ने चिट्ठी में लिखा है कि इंदौर में फंसे बंगाली मजदूर अपने घर लौटना चाहते हैं। वे निजी वाहनों से भी जाने को तैयार हैं, लेकिन हजारों किलोमीटर की दूरी के चलते ऐसा नहीं कर पा रहे। उन्होंने ममता से अपील की है कि वे केंद्र सरकार से बात कर इंदौर से बंगाल के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग करें। रेल मंत्रालय अलग-अलग शहरों से मजदूरों के लिए स्पेशल ट्रेनें चला रहा है। इंदौर से बंगाल के लिए ट्रेन चलने से यहां रहने वाले मजदूरों की मुश्किल आसान होगी।
पसोपेश में ममता
शिवराज की चिट्ठी से ममता के लिए उहापोह की स्थिति पैदा हो गई है। वे केंद्र सरकार पर गैर-बीजेपी शासित राज्यों के साथ भेदभाव का आरोप लगा चुकी हैं। ऐसे में रेल मंत्रालय से बंगाल के लिए अलग से ट्रेन चलाने की मांग करना मुश्किल हो सकता है।
दूसरी ओर शिवराज की चिट्ठी की अनदेखी से उन पर अपने राज्य के मजदूरों पर ध्यान नहीं देने का आरोप लग सकता है।
शिवराज पहले भी साध चुके हैं निशाना
11 मई को मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान ममता ने केंद्र सरकार पर कई आरोप लगाए थे। ममता ने मोदी पर मनमर्जी करने और राज्यों को विश्वास में नहीं लेने की बात कही थी। इसको लेकर शिवराज पहले भी उन्हें निशाने पर ले चुके हैं। शिवराज ने इशारों-इशारों में केंद्र सरकार का बचाव करते हुए कहा था कि पीएम मोदी सबको साथ लेकर चल रहे हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *