शिवपाल यादव ने Jaswant nagar से पर्चा दाखिल किया

Shivpal Yadav filed nomination from Jaswant nagar
शिवपाल यादव ने Jaswant nagar से पर्चा दाखिल किया

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) की अंदरूनी कलह के बीच सपा के दिग्गज नेता शिवपाल यादव ने मंगलवार को इटावा की Jaswantnagar विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल किया.
इस दौरान उनके साथ काफी भीड़ मौजूद थी. इटावा की जसवंतनगर विधानसभा से मंगलवार को सपा नेता शिवपाल सिंह यादव नामांकन कराने पहुंचे. नामांकन से पहले शिवपाल ने यहां जनसभा को भी संबोधित किया.
उन्होंने मुलायम सिंह के बयान पर हामी भरते हुए कहा कि वह सिर्फ सपा का प्रचार करेंगे और 19 फरवरी तक इटावा में ही रहेंगे.
शिवपाल यादव ने कहा कि जनता एक बार फिर भारी बहुमत से सपा को जिताने का काम करेगी. नोटबंदी से परेशान जनता चुनाव में केंद्र सरकार को जवाब जरूर देगी.
नामांकन के दौरान शिवपाल के साथ उनके बहनोई अजंट सिंह और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के करीबी मैनपुरी के सांसद तेज प्रताप यादव भी माजूद थे.
शिवपाल ने जसवन्तनगर विधानसभा सीट से सपा प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल करने के बाद नुमाइश पंडाल में आयोजित जनसभा में ऐलान किया कि वह 11 मार्च के बाद नयी पार्टी बनाएंगे. इसी तारीख को विधानसभा चुनाव के नतीजे भी आएंगे.
उन्होंने सपा अध्यक्ष मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर तंज करते हुए कहा ”आप (अखिलेश) देख लेना कि 11 मार्च के बाद आप सरकार बना लो. हम 11 मार्च के बाद पार्टी बनाएंगे. हम पांच साल से मेहनत कर रहे हैं, आखिर हम कहां जाएं.”
सपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि वह सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा निकाले गये या बागी हुए उन समाजवादी नेताओं के पक्ष में प्रचार करेंगे, जो चुनाव मैदान में हैं. उन्होंने कहा कि जो लोग किन्हीं कारणवश सपा से अलग हो गये हैं, उन्हें अपनी नई पार्टी में शामिल करेंगे.
सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव द्वारा सपा-कांग्रेस गठबंधन का विरोध करते हुए सपा नेताओं से कांग्रेस की सीटों पर चुनाव लड़ने के आह्वान के बाद शिवपाल का नया एलान अखिलेश के लिये चुनावी गणित के लिहाज से मुश्किलें खड़ी कर सकता है.
शिवपाल ने कहा ”मैं हमेशा नेताजी के साथ रहूंगा लेकिन उनका अपमान बिल्कुल नहीं सहूंगा. मुझे अपने अच्छे कामों की सजा मिली है. जिन लोगों ने गड़बड़ियां की उनके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हुई.”
दूसरी ओर, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हाथरस में अपनी चुनावी रैली में शिवपाल की तरफ इशारा करते हुए कहा कि अच्छा हुआ कि ‘साइकिल’ उनके हाथ में आ गयी है. जो भी लोग भितरघात कर रहे थे, वे साथ नहीं रह सकते.
शिवपाल ने तन्जिया लहजे में कहा कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव अगर टिकट देकर उन पर ‘मेहरबानी’ नहीं करते तो वह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में जसवन्तनगर से ही चुनाव लड़ते.
मालूम हो कि गत एक जनवरी को सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में मुख्यमंत्री अखिलेश के प्रतिद्वंद्वी चाचा शिवपाल को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था. हाल में चुनाव आयोग द्वारा अखिलेश के सपाई धड़े को ही असली समाजवादी पार्टी करार दिये जाने के बाद शिवपाल बिल्कुल हाशिये पर आ गये हैं.
हालांकि अखिलेश ने शिवपाल को जसवन्तनगर सीट से उम्मीदवार बनाया है.
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *