Shivpal ने बनाया समाजवादी सेक्युलर मोर्चा

सोमवार और मंगलवार को Shivpal ने मुलायम सिंह यादव के साथ लोहिया ट्रस्ट में हुई बैठक में मंत्रणा के बाद किया फैसला

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में लंबे अरसे से अलग-थलग पड़े Shivpal यादव ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के गठन की घोषणा की है। माना जा रहा है कि यह फैसला उन्होंने सोमवार और मंगलवार को मुलायम सिंह यादव के साथ लोहिया ट्रस्ट में हुई बैठक में मंत्रणा के बाद किया है।

उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मुलायम सिंह यादव भी इस मोर्चे में जुड़ेंगे। हालांकि इस मोर्चे के गठन की घोषणा Shivpal 2017 के चुनाव से पहले भी कर चुके हैं। अब उन्होंने इसे उपेक्षा के चलते सक्रिय करने की बात कही है।

शिवपाल सिंह ने कहा कि समाजवादी पार्टी लंबे संघर्ष के बाद बनी थी। इसमें कई बड़े-बड़े नेता रहे हैं। लंबे समय से इसमें मुझे कोई काम नहीं दिया जा रहा है। न तो कोई पूछ रहा है। उनका प्रयास होगा कि ऐसे लोगों को जोड़ें जिनका समाजवादी पार्टी में सम्मान नहीं हो रहा है। इसीलिए सेक्युलर मोर्चा बनाकर अपने लोगों को काम दिया है। लोगों से बात करें और लोगों को जोड़ें। बूथ पर जाएं, जिले में जाएं। संगठन खड़ा किया जाए। हम चाहते हैं कि समाजवादी पार्टी ने टूटे। इसलिए संगठन बनाया है। जब हमें नहीं बुलाया जा रहा है। नहीं पूछा जा रहा है तो क्या करते…। दो साल से इंतजार कर रहा था।

दूसरी ओर चर्चा है कि भारतीय सुहेलदेव जनता पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर ने मंगलवार को शिवपाल से बातचीत की थी। आशंका जताई जा रही है कि ओम प्रकाश राजभर भी इस मोर्चे में शामिल हो सकते हैं लेकिन अभी तक उनकी ओर से कोई पुष्टि नहीं की गई है।

लोहिया ट्रस्ट की बैठक में हुआ फैसला : लखनऊ में लोहिया ट्रस्ट की बैठकें सोमवार व मंगलवार को लगातार हुई हैं। माना जा रहा है कि इसी दौरान इस सेक्युलर मोर्चे के गठन पर सहमति बनी। अमर सिंह के लखनऊ दौरे ने भी इसमें कारगर भूमिका अदा की।

मुलायम सिंह यादव ने सपा नेता भगवती सिंह के जन्मदिन पर शनिवार को कहा था कि उनका कोई सम्मान नहीं कर रहा। वह काफी भावुक हो गए थे। उनका कहना था कि शायद लोग मरने के बाद मेरा सम्मान करें। इसके बाद यानी सोमवार को शिवपाल ने भी कहा था कि सपा में उनका सम्मान नहीं हो रहा। आखिर कब तक उपेक्षा बर्दाश्त करूं। उन्होंने यह भी कहा था कि जो लोग कभी कुछ नहीं थे और आजकल जो कुछ भी हैं तो वह नेता जी मुलायम सिंह यादव की वजह से हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »