Shiv Sena का BJP पर कटाक्ष: हम दुष्‍यंत चौटाला नहीं, फडणवीस का जवाब

मुंबई। Shiv Sena के सीनियर लीडर संजय राउत ने बीजेपी पर तीखा तंज करते हुए कहा कि ‘यहां कोई दुष्यंत चौटाला नहीं है, जिसके पिता जेल में हैं। यहां हम हैं, जो धर्म और सत्य की राजनीति करते हैं।’
यही नहीं, एनसीपी के बीजेपी संग जाने के समीकरणों को लेकर Shiv Sena के वरिष्‍ठ नेता राउत ने कहा कि शरद पवार वह नेता हैं, जिन्होंने कांग्रेस और बीजेपी के खिलाफ माहौल बनाया। वह कभी बीजेपी के साथ नहीं जाएंगे।
एक तरफ राउत ने बीजेपी पर वार किया तो दूसरी यह भी कहा कि Shiv Sena विकल्पों पर फिलहाल विचार नहीं कर रही है। उन्होंने कहा, ‘उद्धव ठाकरे ने कहा है कि हमारे पास अन्य विकल्प भी हैं लेकिन हम उन पर काम करने का पाप नहीं कर सकते। Shiv Sena ने हमेशा सत्य की राजनीति की है। हम सत्ता के भूखे नहीं हैं।’
गौरतलब है कि महाराष्ट्र में चुनाव नतीजे आने के बाद से अब तक 5 दिन बीत चुके हैं लेकिन सरकार गठन को लेकर तस्वीर साफ नहीं हो सकी है। चुनाव से पहले गठबंधन में लड़े बीजेपी और शिवसेना नतीजों के बाद सीएम पद को लेकर रस्साकशी में जुटे हैं क्‍योंकि ढाई-ढाई साल के सीएम फार्मूले पर अड़ी शिवसेना ने अपने तेवर और कड़े कर लिए हैं।
शिवसेना न मानी तो यूं सरकार गठन करेंगे फडणवीस
इस बीच खबरें हैं कि शिवसेना के सख्त तेवरों को देखते हुए बीजेपी विकल्पों पर विचार करने लगी है। बुधवार को बीजेपी चीफ अमित शाह के मुंबई दौरे की संभावना है। कहा जा रहा है कि वह शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे से मुलाकात कर डील फाइनल कर सकते हैं।
बीजेपी सूत्रों का कहना है कि यदि अमित शाह के साथ उद्धव की मीटिंग में बात नहीं बनती है तो फिर विधायकों की बैठक के बाद फडणवीस राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिल सरकार गठन का दावा कर सकते हैं। यह सरकार 2014 की तर्ज पर अल्पमत की ही सरकार होगी, जिसके गठन के बाद सदन में बहुमत परीक्षण किया जाएगा।
…तो शपथ ग्रहण समारोह से दूर रहेगी शिवसेना
शिवसेना के सूत्रों ने कहा कि यदि बीजेपी उनकी मांगों पर राजी नहीं होती है तो फिर वह फडणवीस सरकार के शपथ ग्रहण समारोह से दूर रहेगी।
बता दें कि 2014 में शिवसेना और बीजेपी ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था। तब बीजेपी को 122 और शिवसेना को 63 सीटें मिली थीं। शिवसेना के साथ समझौता न होने पर देवेंद्र फडणवीस ने अल्पमत सरकार का गठन किया था, जिसे एनसीपी ने बाहर से समर्थन का ऐलान कर दिया था। हालांकि बाद में शिवसेना ने सरकार में शामिल होने का फैसला किया था।
फडणवीस ने दिया शिवसेना को जवाब
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने साफ कहा कि हमारे पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने इस बात की पुष्टि की है कि शिवसेना के साथ CM पोस्ट को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है। उन्होंने आगे बताया कि अब तक कोई भी फार्मूला तय नहीं हुआ है।
फडणवीस ने आगे कहा कि शिवसेना ने अभी कोई डिमांड नहीं की है। अगर वे कोई मांग रखते हैं तो हम मेरिट के आधार पर देखेंगे। आपको बता दें कि इस बार बीजेपी और शिवसेना दोनों को 2014 की तुलना में कम सीटें मिली हैं। कुछ निर्दलीयों का भी समर्थन मिलने के बाद शिवसेना को लग रहा है कि वह दबाव बनाकर सरकार में टॉप पोस्ट हासिल कर सकती है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *