‘फ्री कश्मीर’ के पोस्टर पर शिवसेना भड़की: कहा, ये बर्दाश्त नहीं

मुंबई। जेएनयू हिंसा के खिलाफ मुंबई में छात्रों की तरफ से जारी आंदोलन के बीच एक छात्रा के हाथ में ‘फ्री कश्मीर’ के पोस्टर को लेकर सियासत जारी है। अब इस मामले में सत्तारूढ़ शिवसेना भी कूद पड़ी है।
शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने दो टूक कहा कि अगर कोई भारत से कश्मीर की आजादी की बात करता है तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
दरअसल, गेटवे ऑफ इंडिया पर एक छात्रा के हाथ में ‘फ्री कश्मीर’ के पोस्टर से सोशल मीडिया पर सियासी घमासान मचा हुआ है। इस पोस्टर की न सिर्फ बीजेपी, बल्कि कांग्रेस के नेताओं ने भी जमकर आलोचना की। महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव सरकार को आड़े हाथों लिया और पूछा कि क्या उन्हें फ्री कश्मीर भारत विरोधी अभियान बर्दाश्त है।
छात्रों की सफाई पर यह बोले राउत
इस मामले में अब अपनी प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, ‘मैंने अखबार में पढ़ा कि ‘मुक्त कश्मीर’ का पोस्टर दिखाने वाले छात्रों ने सफाई दी है कि वे इंटरनेट सेवाओं, मोबाइल सेवाओं और अन्य मुद्दों पर प्रतिबंध से मुक्त रहना चाहते हैं। इसके बावजूद अगर कोई भारत से कश्मीर की आजादी की बात करता है तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।’
‘मुक्त कश्मीर’ वाली छात्रा ने दी यह सफाई
छात्रा ने वीडियो जारी कर खुद इस मामले में सफाई दी है। उन्होंने कहा, ‘मैं कश्मीरी नहीं हूं। मैं महाराष्ट्रियन हूं। मैंने इस पोस्टर को इसलिए उठाया कि हम संवैधानिक हक की भी लड़ाई लड़ रहे हैं। अगर हम कहते हैं कि वे (कश्मीरी) अपने हैं तो हमें उन्हें अपने जैसा ट्रीट भी करना चाहिए। वहां 5 महीने से इंटरनेट बंद है। क्या उन्हें इसका हक नहीं है। सिर्फ इसी मकसद से मैंने उसे उठाया कि उन्हें उनका हक मिलना चाहिए।’
किरीट सोमैया ने दर्ज कराई शिकायत
इस बीच बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने कहा है कि गेटवे ऑफ इंडिया पर प्रदर्शन के दौरान ‘फ्री कश्मीर’ पोस्टर लेकर उन्होंने पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि मामले की जरूर जांच कराई जाएगी।
फडणवीस ने साधा था शिवसेना पर निशाना
इससे पहले शिवसेना को निशाने पर लेते हुए फडणवीस ने ‘फ्री कश्मीर’के पोस्टर वाले वीडियो ट्वीट कर लिखा, ‘यह किस बात का प्रदर्शन है? फ्री कश्मीर के नारे क्यों लगाए जा रहे हैं? हम मुंबई में इस तरह के अलगाववादी तत्वों को कैसे बर्दाश्त कर सकते हैं?’
मुंबई में छात्रों का प्रदर्शन तेज
बता दें कि जेएनयू में हुई हिंसा के खिलाफ मुंबई में छात्रों का विरोध अब और तेज हो गया है। गेटवे ऑफ इंडिया पर बड़ी संख्या में छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद से पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्रों को गाड़ियों में भरकर उन्हें यहां से आजाद मैदान के लिए भेज दिया। छात्रों ने आजाद मैदान में अनशन की चेतावनी दी है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *