शीना बोरा हत्याकांड: पीटर मुखर्जी को बॉम्बे हाई कोर्ट ने जमानत दी

मुंबई। शीना बोरा हत्याकांड में आरोपी पीटर मुखर्जी को बॉम्बे हाई कोर्ट ने जमानत दे दी है। बताते चलें कि साल 2012 में शीना बोरा की हत्या कर दी गई थी। इसी मामले में शीना बोरा की मां इंद्राणी मुखर्जी शीना की हत्या के आरोप में जेल में हैं। इसी केस में पीटर मुखर्जी को भी 2015 में गिरफ्तार करके जेल भेजा गया था। 2015 में गिरफ्तारी के बाद से ही पीटर मुखर्जी जेल में है। सीबीआई ने पीटर को जमानत दिए जाने का लगातार विरोध किया है।
गौरतलब है कि शीना बोरा पीटर मुखर्जी की पूर्व पत्नी इंद्राणी के पहले पति की बेटी थी, जो इंद्राणी के साथ रहती थी। इंद्राणी शीना को अपनी छोटी बहन बताती थी। 2015 में इंद्राणी मुखर्जी शीना बोरा की हत्या के आरोप में गिरफ्तार हुई थी। इस मामले में पूछताछ के बाद पुलिस ने पीटर मुखर्जी को भी गिरफ्तार किया था। पीटर मुखर्जी ने लगातार दावा किया है कि जांच एजेंसियों के पास उनके खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं है। पीटर का कहना है कि जब शीना बोरा की हत्या हुई थी तो वह लंदन में थे।
जमानत का विरोध करती रही है सीबीआई
शीना की हत्या 2012 में हुई थी। सीबीआई ने अपनी जांच के बाद कहा था कि पीटर मुखर्जी अपनी पूर्व पत्नी इंद्राणी मुखर्जी की बेटी शीना बोरा के साइलेंट किलर हैं। पीटर को इस सनसनीखेज हत्याकांड में शीना बोरा की हत्या के लिए 2015 में गिरफ्तार किया गया था। सरकारी वकील भरत बदामी ने कहा था कि सीबीआई के पास इस बात के पर्याप्त सबूत है कि इस हत्याकांड में पीटर मुखर्जी की भूमिका है। बदामी ने बताया कि पीटर ने शीना बोरा को ढूंढने के लिए कोई कदम नहीं उठाया। उसने यही कहानी गढ़ी थी कि उसे शीना कहां है का पता नहीं था जबकि शीना उसके बेटे राहुल मुखर्जी से संबंध रखती थी।
आरोप है कि 24 अप्रैल 2012 को इंद्राणी मुखर्जी ने अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या करवा दी और शव को पड़ोस के रायगढ़ जिले के एक जंगल में फेंक दिया। इस मामले में इंद्राणी को अगस्त 2015 में गिरफ्तार किया गया था। मामले में उसके पति पीटर मुखर्जी और उसके पूर्व पति संजीव खन्ना को भी गिरफ्तार किया गया था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *