शशि थरूर की कांग्रेस को चेतावनी, ‘लाइट हिंदुत्व’ की राह से कांग्रेस का जीरो होना तय

नई दिल्‍ली। हाल में अपने बयानों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करनेवाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने रविवार को इस बात पर जोर दिया कि कांग्रेस पार्टी को धर्मनिरपेक्षता की रक्षा करनी चाहिए। उन्होंने साथ ही कहा कि हिंदी पट्टी में पार्टी के संकट का समाधान ‘बहुसंख्यक तुष्टीकरण’ में या ‘कोक लाइट’ की तर्ज पर किसी तरह के ‘लाइट हिंदुत्व’ की पेशकश में नहीं है और इस राह पर चलने से ‘कांग्रेस जीरो’ हो जाएगी। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा और उसके सहयोगियों द्वारा हिंदू होने का दावा ‘ब्रिटिश फुटबॉल के बदमाश समर्थकों’ की अपनी टीम के प्रति वफादारी से अलग नहीं है।
63 वर्षीय कांग्रेस नेता ने कहा, ‘निष्ठावान लोग एक ऐसी पार्टी का सम्मान करेंगे जो हमारे विश्र्वासों के साहस को प्रदर्शित करे, न कि ‘कोक लाइट’ और ‘पेप्सी जीरो’ की तर्ज पर किसी तरह के ‘लाइट हिंदुत्व’ की पेशकश करे, ‘लाइट हिंदुत्व’ का अंत सिर्फ ‘जीरो कांग्रेस’ के रूप में होगा।’
बता दें कि कोक लाइट’ और ‘पेप्सी जीरो’ मूल सॉफ्ट ड्रिंक ब्रांड के चीनी रहित और कैलोरी रहित संस्करण हैं।
अपनी किताब ‘दि हिंदू वे : एन इंट्रोडक्शन टू हिंदुइज्म’ के लोकार्पण से पहले एक साक्षात्कार में थरूर ने दावा किया कि सत्तारूढ़ लोगों द्वारा जो प्रचार किया जा रहा है वह सही मायनों में हिंदुत्व नहीं है, बल्कि वह एक महान मत को ‘विकृत करना’ है, जिसे उन्होंने विशुद्ध राजनीतिक और चुनावी लाभ के लिए एक संकीर्ण राजनीतिक हथियार में बदल दिया है।
अपने सिद्धांत पर चले कांग्रेस
तिरुवनंतपुरम के सांसद ने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी के सदस्य के रूप में मेरा मानना है कि भारत में धर्मनिपेक्षता की रक्षा करने में पार्टी की एक बुनियादी भूमिका है, और इसकी अगुआई करना उसका कर्तव्य है।’
थरूर ने कहा कि भाजपा की सफलता से भयभीत होने के बजाय कांग्रेस के लिए बेहतर होगा कि वह उन सिद्धांतों के लिए खड़ी हो, जिन पर उसने हमेशा विश्वास किया है और देश को उनके अनुसरण के लिए प्रेरित करे।
खूबसूरत है हिंदू धर्म
थरूर ने कहा, ‘हिंदुत्व की खूबसूरती यह है कि हमारे यहां कानून बनाने के लिए कोई पोप नहीं हैं, कोई इमाम फतवा जारी करके यह नहीं बताता है कि सच्चा मत क्या है, कोई अकेला पवित्र ग्रंथ नहीं है। हिंदू मत में ऐसी कोई बात नहीं है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »