शारदीय नवरात्र 21 सितंबर से, दशहरा 30 सितंबर को

अश्वनी मास के शुक्ल पक्ष में 21 सितंबर (गुरुवार) से शारदीय नवरात्र शुरु हो रहे हैं। शुभ विला सुबह 06:06 बजे से 07:26 बजे तक है। वहीं साथी अभिजीत मुहूर्त सुबह 11:46 से 12:34 तक रहेगा। दोपहर में 12:06 से 03: 06 लाभ की बेला रहेगी। शुभ लाभ और अमृतवेला में घट स्थापना करने से भक्तों को मन की मुरादें पूरी होंगी। साथ ही इस बार रवि योग सर्वार्थ सिद्धि योग में मां भक्तों का मान सम्मान बढ़ाने के साथ ही उनकी इच्छा पूरी करेंगी।
ब्रह्म शक्ति ज्योतिष संस्थान के पंडित जगदीश शर्मा ने बताया कि दशहरा 30 सितंबर को है इसमें 23 सितंबर तृतीया और 25 सितंबर पंचमी को रवि योग और सर्वार्थ सिद्धि योग बनेगा। 24 सितंबर चतुर्थी और 26 सितंबर सस्ति को सर्वार्थ सिद्धि योग बनेगा। वहीं 27 सितंबर व 29 सितंबर को दुर्गा नवमी को रवि योग बनेगा। नवरात्र की रात में हस्त नक्षत्र चंद्र और सूर्य कन्या राशि में भ्रमण करेंगे। यह योग व्यापारियों के लिए बहुत लाभ पहुंचाने वाला है।
-एजेंसी