शम्मी कपूर का जन्मदिन आज, फिल्म ‘जीवन ज्योति’ से किया था डेब्यू

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता शम्मी कपूर का जन्म 21 अक्टूबर 1931 को हुआ था। यूं तो शम्मी कपूर कभी बहुत बड़े सुपरस्टार नहीं रहे लेकिन अपने फिल्मी करियर में उन्होंने बहुत सी यादगार फिल्में दी हैं। शम्मी ने 1953 की फिल्म ‘जीवन ज्योति’ से डेब्यू किया था और उनकी आखिरी फिल्म रणबीर कपूर की ‘रॉकस्टार’ थी जिसमें उन्होंने एक छोटी लेकिन यादगार भूमिका निभाई थी। आइए, शम्मी के जन्मदिन पर जानते हैं उनसे जुड़ी कुछ अनजानी बातें।
लुक ऐसा कि बॉलीवुड के एल्विस प्रिस्ली कहे जाते थे शम्मी
शम्मी कपूर ने 50 के दशक में फिल्मों में काम किया था। उसी दौर में अमेरिकन सिंगर और एक्टर एल्विस प्रिस्ली की भी पूरी दुनिया में धूम थी। लुक्स और डांस में शम्मी कपूर और एल्विस प्रिस्ली में काफी समानताएं थीं और इसलिए शम्मी को बॉलिवुड का एल्विस प्रिस्ली कहा जाने लगा।
पृथ्वी थिएटर में 50 रुपये की सैलरी पर करते थे काम
शम्मी कपूर ने अपने करियर की शुरुआत अपने पिता के पृथ्वी थिएटर में 50 रुपये की नौकरी से की थी। उस समय वह एक जूनियर आर्टिस्ट के तौर पर काम करते थे। 4 साल बाद 1952 में उन्होंने यह नौकरी छोड़ दी थी और उस समय शम्मी को 300 रुपये महीने की सैलरी मिलती थी।
शुरुआत में नहीं चली एक भी फिल्म
1953 में शम्मी कपूर ने लीला मिश्रा और शशिकला के साथ फिल्म ‘जीवन ज्योति’ से डेब्यू किया था। शुरुआत में शम्मी की फिल्मों को लोगों ने बिल्कुल भी पसंद नहीं किया। बाद में शम्मी कपूर ने ‘तुमसा नहीं देखा’, ‘दिल देके देखो’, ‘जंगली’, ‘कश्मीर की कली’, ‘तीसरी मंजिल’, ‘एन इवनिंग इन पैरिस’, ‘ब्रह्मचारी’, ‘प्रिंस’ और ‘अंदाज’ जैसी बेहतरीन फिल्में दीं जिनमें शम्मी कपूर के अंदाज को लोगों ने बेहद पसंद किया था।
खुद कोरियॉग्राफ करते थे अपना ‘गर्दन तोड़’ डांस
जिस दौर में शम्मी कपूर फिल्में कर रहे थे तब हीरो फिल्मों में डांस नहीं किया करते थे लेकिन शम्मी कपूर अपने गानों में न केवल डांस करते थे बल्कि गानों को कोरियॉग्राफ भी खुद ही करते थे। शम्मी कपूर को अपनी फिल्मों में कभी कोरियॉग्रफर की जरूरत नहीं पड़ी। उस दौर में शम्मी कपूर के झटके वाले डांस को ‘गर्दन तोड़’ डांस का नाम दिया गया था।
भारत आने से पहले इंटरनेट यूज कर रहे थे शम्मी
शम्मी कपूर को नई टेक्नोलॉजी से बेहद प्यार था। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि भारत में 1995 में इंटरनेट आया लेकिन शम्मी कपूर 1994 से ऐपल के जरिए इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे थे। उन्होंने शुरुआती दौर में ही कई इंटरनेट एसोसिएशंस बनाई थीं और कपूर फैमिली की वेबसाइट भी शम्मी कपूर ही संभालते थे। अपने जीवन के आखिरी समय तक शम्मी कपूर सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर एक्टिव थे।
पत्नी की मौत से डिप्रेशन में चले गए थे शम्मी कपूर
शम्मी कपूर ने एक्ट्रेस गीता बाली से शादी की थी। इन दोनों की मुलाकात 1955 में फिल्म ‘रंगीन रातें’ के सेट पर हुई थी। हालांकि 1965 में गीता बाली की चेचक के कारण मौत हो गई जिसके बाद शम्मी कपूर डिप्रेशन में चले गए थे। 4 साल बाद शम्मी ने दूसरी शादी नीला देवी के साथ की थी लेकिन उन्होंने शर्त रख दी थी कि नीला कभी मां नहीं बनेंगी और गीता बाली के बच्चों आदित्य और कंचन को ही अपने बच्चों की तरह पालेंगी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *