शहीद सत्यवान की अंतिम विदाई में उमड़ा जनसैलाब

देवरिया। जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में शहीद हुए देवरिया के सपूत सत्यनारायण यादव का पार्थिव शरीर सोमवार की सुबह उनके पैतृक गांव बैदा में पहुंचा।  जहां राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार हुआ ।

आज सोमवार की दोपहर को शहीद सत्यनारायण की अंतिम यात्रा निकली। कैबिनेट मंत्री सूर्यप्रताप शाही सहित कई जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने कंधा दिया। अंतिम यात्रा में हजारों की भीड़ सत्यनारायण अमर रहे,पाकिस्तान मुर्दाबाद का नारा लगाते हुए चल रही थी। बरहज में पुण्य सलिला सरयू के तट पर शहीद को अंतिम विदाई दी गई।

बीएसएफ जवानों के साथ स्थानीय पुलिस ने गार्ड ऑफ ऑनर देने के साथ बंदूकें नीची कर शोक प्रकट किया। सत्यनरायण के बेटे शम्भू ने उन्हें मुखाग्नि दी। अन्त्येष्टि के दौरान वहां मौजूद हर आंख एक बार फिर नम हो उठी।

शहीद का शव घर पहुंचने की जानकारी होने के बाद पूरे इलाके के लोग अपने जवान को अंतिम विदाई के देने के लिए उमड़ पड़े। गांव में ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद, सत्यवान अमर रहे’, ‘जब तक सूरज चांद रहेगा, सत्य नरायण तेरा नाम रहेगा’ के नारों से आकाश गूंज उठा। वहां मौजूद बच्चों, बूढ़ों, महिलाओं समेत सबकी आंखें नम थी। सबकी आंखों में पाकिस्तान के प्रति आक्रोश झलक रहा था।

पार्थिव शरीर  गांव पहुंचते ही घर में कोहराम मच गया

शहीद सत्यवान की पत्नी सुशीला तो शव को देखकर बेहोश हो गई। सत्यवान के बेटे, बेटे शम्भू, जितेन्द्र और राजेश का रोना देखकर शव के साथ आए बीएसएफ के जवान भी अपने आप को रोक नहीं पाए। उधर शहादत की खबर पाकर सत्यनारायण की चाची ने सदमे से दम तोड़ दिया।

सीएम को बुलाने पर अड़े परिजन, फोन पर बनी बात
शहीद सत्यनारायण का शव जिस वक्त उनके दरवाजे पर पहुंचा, वहां किसी जिम्मेदार के न पहुंचने पर परिजनों में आक्रोश फैल गया। परिजनों ने सीएम के आने तक अन्त्येष्टि न करने की जिद पकड़ ली। इसकी खबर मिलते ही पूर्व केन्द्रीय मंत्री कलराज मिश्र, कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही समेत डीएम और एसपी कुछ ही देर में ही शहीद के घर पहुंचकर परिजनों को समझाने की कोशिश की। परिजन जब अपनी जिद पर अड़े रहे तो सांसद कलराज मिश्र ने फोन से सत्यनरायण के बड़े बेटे शम्भू की बात मुख्यमंत्री से कराई। उसके बाद परिजन शहीद सत्यवान की अन्त्येष्टि को राजी हुए। शम्भू ने बताया कि योगी जी ने 10 दिन में आने का भरोसा दिया है।
-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »