सिवान में शहाबुद्दीन की अंत्येष्टि को नहीं मिल रही इजाज़त: ओवैसी

नई दिल्‍ली। एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के घर के लोग उनकी अंत्येष्टि बिहार में उनके पैतृक स्थल सिवान में करना चाहते हैं मगर अधिकारी इसकी इजाज़त नहीं दे रहे हैं.
ओवैसी ने सोमवार को ट्वीट कर लिखा, “कम-से-कम उनके ग़मज़दा घर वालों को उनके आख़री रूसूमात उनके हिसाब से करने से तो नहीं रोका जाना चाहिए. ज़ाहिर सी बात है कि वो कोविड-19 के तमाम एहतियाती तदाबीर पर अमल करेंगे.”
उन्होंने ट्वीट कर ये भी आरोप लगाया कि शहाबुद्दीन का इलाज ठीक से नहीं किया गया और उन्हें ‘एक कोविड-19 मरीज़ के साथ रखा गया’.
28 अप्रैल को शहाबुद्दीन के वकीलों, सलमान ख़ुर्शीद और रणधीर कुमार ने दिल्ली हाईकोर्ट में अपनी एक याचिका में कहा था कि “एक अन्य क़ैदी के कोविड पॉज़िटिव होने के बावजूद जेल अधिकारियों ने आवेदक (शहाबुद्दीन) को उसी सेल में रखा जबकि उन्हें इस बीमारी के घातक होने की बात पता थी. जेल अधिकारियों ने कोई अलग इंतज़ाम नहीं किया और कई बार आग्रह करने के बावजूद, उन्हें उसी कोविड मरीज़ के साथ उसी सेल में रखा गया, और जेल अधिकारियों ने इस तरह याचिकाकर्ता का जीवन ख़तरे में डाल दिया.”
इस सुनवाई के बाद जस्टिस प्रतिभा एम सिंह ने दीन दयाल उपाध्याय हॉस्पिटल के सीनियर डॉक्टरों को शहाबुद्दीन की सेहत की निगरानी के लिए कहा था.
शहाबुद्दीन को 19 अप्रैल को कोविड पॉज़िटिव पाया गया था जिसके अगले दिन उन्हें दिल्ली के दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती कराया गया. 1 मई को वहाँ उनकी मौत हो गई.
शहाबुद्दीन 2004 के दोहरे हत्याकांड में आजीवन कारावास की सज़ा काट रहा था.
तिहाड़ जेल प्रशासन ने 23 अप्रैल को कहा था कि जेल में कोरोना के 227 सक्रिय मामले हैं.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *