अमरीकी रैपर रॉकी की स्‍वीडन में गिरफ्तारी पर ट्रंप ने किए कई ट्वीट

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने स्वीडन से मांग की है कि वो अमरीकी रैपर एएसएपी रॉकी को जल्द से जल्द रिहा करे.
अमरीकी राष्ट्रपति ने रॉकी की रिहाई की मांग करते हुए एक के बाद एक कई ट्वीट भी किए हैं.
रैपर एएसएपी रॉकी का असली नाम रकीम मायर्स है. उन्हें स्टॉकहोम में कुछ लोगों के साथ मारपीट करने के आरोप में हिरासत में लिया गया है. उन्हें ट्रायल शुरू होने तक हिरासत में ही रहना ही होगा.
अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया है कि स्वीडन ने ऐसा करके अफ्रीकी-अमरीकी समुदाय को नीचा दिखाया है.
एएसएपी रॉकी को तीन जुलाई को हिरासत में लिया गया था. उन्हें लड़ते हुए पाया गया था. इसका वीडियो भी मौजूद है.
जिस समय ये लड़ाई हुई उस वक़्त रॉकी अकेले नहीं थे. उनके साथ दो अन्य लोग भी थे. हालांकि रैपर रॉकी का कहना है कि कुछ आदमी उनके ग्रुप का पीछा कर रहे थे और उन्होंने जो कुछ भी किया वो आत्मरक्षा में किया.
डोनल्ड ट्रंप का कहना है कि उन्होंने एएसएपी रॉकी के मामले में पिछले सप्ताह ही स्वीडन के प्रधानमंत्री स्टीफ़न लोफ़वेन से भी बात की थी.
हालांकि गुरुवार को एक ट्वीट में ट्रंप ने लिखा कि वो बेहद हताश हैं. उन्होंने लिखा कि वो उम्मीद करते हैं कि स्वीडन इस पूरे मामले पर अमरीका के प्रति ईमानदार रवैया रखेगा.
स्वीडन के प्रधानमंत्री के प्रवक्ता ने इस ट्वीट की प्रतिक्रिया में कहा है, ”स्वीडन की न्याय व्यवस्था, अधिवक्ता और न्यायालय स्वतंत्र हैं और सरकार को किसी भी तरह का अधिकार नहीं है कि वो किसी भी क़ानूनी कार्यवाही में हस्तक्षेप भी करे. यह भी जानने की बात है कि क़ानून के लिए हर कोई बराबर है.”
इस मामले में स्वीडन के अभियोजक डैनियल सुनसन का कहना है कि उन्होंने इस मामले की पड़ताल के दौरान ना तो व्हाइट हाउस के किसी प्रतिनिधि से बात की है और ना ही स्वीडन सरकार के किसी शख़्स से.
उन्होंने इस बात की भी आशंका जताई कि अगर इन तीनों अभियुक्तों को रिहा कर दिया जाता है तो ये देश छोड़कर चले जाएंगे.
बुधवार को रैपर रॉकी की मां ने भी उनके बेटे को रिहा किए जाने की गुहार लगाई है.
रेनी ब्लैक ने स्वीडन के न्यूज़ पेपर एक्सप्रेसन से कहा कि एएसएपी सही से खाना भी नहीं खा रहे हैं.
दूसरे कई सितारों जैसे किम करडाशियां वेस्ट और कीनिया वेस्ट ने भी रॉकी की रिहाई की मांग की है. इसके अलावा एक ऑनलाइन हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया है जिस पर पाँच लाख से अधिक लोग रैपर रॉकी की रिहाई की मांग के लिए हस्ताक्षर कर चुके हैं. जिसमें निकी मेनाज़ और पोस्ट मालोन जैसे कलाकार भी शामिल हैं.
इस मामले में 30 जुलाई से ट्रायल शुरू हो जाएंगे.
कैसे रॉकी का हिरासत में लिया जाना इतना बड़ा मुद्दा बन गया
ऑनलाइन एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें रैपर रॉकी एक शख़्स को मुक्के से मारते नज़र आ रहे हैं.
बाद में रॉकी के इंस्टाग्राम पर कई और वीडियो पोस्ट किए गए, जिसमें रॉकी और उनके साथ मौजूद दो लोग लगातार कुछ लोगों को उनका पीछा ना करने को कह रहे हैं.
अपने पहले वीडियो को पोस्ट करते हुए रॉकी ने लिखा था “हम इन लोगों को नहीं जानते हैं. हम परेशानी में नहीं पड़ना चाहते थे. वो देर से हमारा पीछा करते आ रहे थे.”
दूसरे वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने लिखा कि पीछा करने वाले एक शख़्स ने उनके अंगरक्षक को घायल कर दिया.
30 साल के रॉकी स्टॉकहोम के स्मैश फेस्टिवल के तहत एक परफॉर्मेंस देने के लिए वहां थे.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *