बोधगया ब्लास्ट केस में सभी दोषियों को उम्रकैद की सजा

पटना। बोधगया में 2013 में हुए सीरियल ब्लास्ट केस में NIA की विशेष अदालत ने सभी दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है। 7 जुलाई 2013 को भगवान बुद्ध की ज्ञानस्थली बोधगया में हुए 9 सीरियल ब्लास्ट में एक तिब्बती बौद्ध भिक्षु और म्यांमार के तीर्थयात्री घायल हो गए थे। इस मामले में एनआईए की विशेष अदालत ने 25 मई को सभी 5 आरोपियों को दोषी करार दिया था लेकिन सजा का ऐलान नहीं किया जा सका था।
एनआईए ने इन बम धमाकों की जांच करते हुए 5 आतंकियों को गिरफ्तार किया था। एनआईए की तरफ से इस मामले में 90 गवाह पेश किए गए थे। एनआई ने बोधगया ब्लास्ट केस में 3 जून 2014 को चार्जशीट फाइल की थी। इन दोषियों में इम्तियाज अंसारी, उमर सिद्दीकी, अजहरुद्दीन कुरैशी और मुजिबुल्लाह अंसारी के नाम शामिल हैं।
ये आतंकी 27 अक्टूबर 2013 को पटना के गांधी मैदान में हुए ब्लास्ट मे भी आरोपी हैं। फिलहाल ये सभी बेउर जेल में बंद हैं। एनआईए की जांच में सामने आया था कि ये आतंकी म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रहे अत्याचार का बदला लेना चाहते थे। इसके लिए हैदर अली उर्फ ब्लैक ब्यूटी ने इस घटना को अंजाम देने के लिए षडयंत्र रचा था। -एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »