सनसनीखेज मोड़: सेवादार के नाम कर गए भय्यूजी महाराज अपनी सारी संपत्ति

इंदौर। आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज की खुदकुशी मामले में पुलिस को मिले सूइसाइड नोट के दूसरे पेज से सनसनीखेज मोड़ आ गया है। इंदौर पुलिस को मिला कथित सूइसाइड नोट पारिवारिक कलह की ओर इशारा करता है। इसके अनुसार, ‘भय्यूजी महाराज ने अपनी संपत्ति और बैंक अकांउट्स का मालिकाना हक अपने भरोसेमंद सेवादार विनायक को सौंपा है।’
जानकारी के मुताबिक सूइसाइड नोट के इस दूसरे पेज पर लिखा है, ‘मेरी सभी आर्थिक शक्तियां, संपत्ति, बैंक अकाउंट्स और सभी कागजातों का हक विनायक को देता हूं क्योंकि मुझे विनायक पर पूरा भरोसा है। मैं यह सब कुछ बिना किसी दबाव के लिख रहा हूं।’ बता दें कि मंगलवार को इंदौर के खांडवा रोड स्थित अपने आवास पर भय्यूजी महाराज ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। उन्हें तुरंत स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।
पुलिस ने मंगलवार को भय्यूजी महाराज का तथाकथित सूइसाइड नोट बरामद किया था जिसके अनुसार वह काफी तनाव में थे और जिंदगी से ऊब चुके थे। इसमें उन्होंने लिखा था, ‘किसी को परिवार की जिम्मेदारी लेनी होगी.. मैं अब जा रहा हूं.. बहुत तनाव में हूं और ऊब चुका हूं।’
भय्यूजी का पार्थिव देह को अंतिम दर्शन के लिए इंदौर के सूर्योदय आश्रम में रखा गया था। भय्यूजी को मुखाग्नि उनकी बेटी कुहू देगी। भय्यूजी ने अपनी पहली पत्नी माधवी की मौत के बाद पिछले साल डॉ. आयुषी से दूसरी शादी की थी। पहली पत्नी से उन्हें एक बेटी कुहू है जो पुणे में पढ़ाई कर रही हैं।
भय्यूजी की मौत के 20 घंटे बाद जो तथ्य सामने आए हैं उनसे इसकी भी पुष्टि होती है कि उन्होंने अपनी पहली पत्नी की बेटी और दूसरी पत्नी के बीच चल रही कलह के चलते जान दी थी। इसके साथ ही उस महिला के बारे में भी पता लगाया जा रहा है, जिससे एक दिन पहले वह एक रेस्त्रां में मिले थे।
बेटी और सौतेली मां के बीच थे तनावपूर्ण संबंध
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक पारिवारिक सूत्रों से पता चला है कि भय्यूजी की पहली पत्नी से हुई बेटी कुहू और उनकी दूसरी पत्नी डॉक्टर आयुषी के बीच संबंध बेहद तनावपूर्ण थे, जिसकी बजह से वह बहुत परेशान रहते थे। सौतेली मां और बेटी के बीच कटुता इस कदर हावी थी कि बेटी ने घर आते ही पुलिसकर्मियों से कहा कि डॉक्टर आयुषी की वजह से ही मेरे पिता ने आत्महत्या की है। इन्हें जेल में बंद कर दो। यहीं नही उसने घर में रखी आयुषी की तमाम तस्वीरें तोड़ डालीं। बड़ी मुश्किल से पुलिसकर्मियों ने उसे रोका।
एक दिन पहले किस महिला से मिले थे?
उधर इस मामले की जांच की निगरानी कर रहे एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का कहना है कि अभी तक तो यही लग रहा है कि गृह कलह के चलते उन्होंने यह कदम उठाया है। भय्यूजी का मोबाइल फोन और लैपटॉप पुलिस ने जब्त कर लिया है। उसकी जांच कराई जा रही है। इसके साथ ही उस महिला के बारे में भी पता लगाया जा रहा है, जिससे एक दिन पहले वह एक रेस्त्रां में मिले थे।

बेटी कुहू ने दी मुखाग्नि
मध्य प्रदेश के इंदौर में निवासरत आध्यात्मिक संत उदय सिंह देशमुख (भय्यू महाराज) की पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन हो गई।
यहां स्थित सयाजी मुक्तिधाम में उनकी बेटी कुहू ने उन्हें मुखाग्नि दी। भय्यू महाराज को श्रद्धांजलि देने और उनके अंतिम दर्शन के लिए केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले, महाराष्ट्र की कैबिनेट मंत्री पंकजा मुंडे और कांग्रेस नेता शोभा ओझा समेत इंदौर के कई स्थानीय नेता और जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।
इस अवसर पर मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात समेत कई अन्य राज्यों से भय्यू महाराज के अनुयायी हजारों की संख्या में यहां मौजूद रहे। इसके पहले भय्यू महाराज के आश्रम सूर्योदय से उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »