दिल्ली से गिरफ्तार आतंकी का सनसनीखेज कबूलनामा

नई दिल्‍ली। दिल्ली के धौला कुआं इलाके से गिरफ्तार आतंकवादी अबू यूसुफ का एक सनसनीखेज कबूलनामा सामने आया है। उसने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को बताया कि अगर वह दिल्ली को दहलाने के प्लान में सफल हो जाता तो उसका अगला कदम फिदायीन हमला करने का था। पुलिस पूछताछ में अबू यूसुफ ने कबूल किया कि उसने आत्मघाती हमले के लिए शरीर में विस्फोटकों को बांधने वाला बेल्ट भी तैयार कर रखा है। यह जानकारी दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीएसपी ने मीडिया को दी। उन्होंने कहा अबू यूसुफ दिल्ली के किसी बेहद भीड़भाड़ वाले इलाके में बड़ा धमाका करना चाहता था। यह सोशल मीडिया के जरिए आईएसआईएस हैंडलरों के संपर्क में आया था और 2010 से पहले सऊदी अरब काम करने के लिए गया था।
मारे जा चुके हैं यूसुफ के दो हैंडलर
डीएसपी ने कहा कि मोहम्मद मुस्तकिन खान उर्फ अब्दुल उर्फ यूसुफ उर्फ अबू यूसुफ अपनी पत्नी और बच्चों का पासपोर्ट बनाकर भी रखा था क्योंकि आईएसआईएस के उसके हैंडलर ने उसे परिवार सहित अफगानिस्तान के खुरासान बुलाने का वादा किया था लेकिन वह मारा गया। डीएससी ने बताया, ‘अबू यूसुफ का पहला हैंडलर यूसुफ अल हिंदी सीरिया में मारा गया था। उसका दूसरा हैंडलर अली हुजैफा पाकिस्तानी, पिछले साल खुरासान में अमेरिकी ड्रोन हमले में मारा गया था। अबू हुजैफा ने उसे खुरासान बुलाने का वादा किया था, पत्नी बच्चों के पासपोर्ट बनवा लिए थे। हुजैफा की मौत के बाद आईएसआईएस खुरासान प्रोविंस का जो नया अमीर नियुक्त हुआ, उसने अबू यूसुफ से कहा कि उसे खुरासान आने की जरूरत नहीं है, भारत में रहकर ही संगठन का काम करे।’
15 अगस्त को ही आना चाहता था दिल्ली
डीएसपी ने कहा कि हैंडलर से इस आदेश के बाद अबू यूसुफ किसी बड़ी घटना को अंजाम देन की फिराक में था, लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन लगने से उसकी गतिविधियां सिमट गईं। फिर वह 15 अगस्त के आसपास दिल्ली आने वाला था लेकिन कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के कारण नहीं आ पाया था। जब उसे लगा कि सुरक्षा व्यवस्था ढीली हो गई होगी तो उसने दिल्ली का रुख किया और शुक्रवार रात को धौला कुआं इलाके से हल्की मुठभेड़ में दबोचा गया। उत्तर प्रदेश के बलरामपुर स्थित भदाही शाही गांव निवासी अबू यूसुफ की पत्नी और चार बच्चे हैं। गांव मे इसकी कॉस्मेटिक की एक दुकान है।
दो प्रेशर कुकर बम, पिस्टल, कार्टेज और बाइक बरामद
पुलिस के मुताबिक, 36 साल के इस आतंकवादी के पास से दो आईईडी बेस्ड प्रेशर कुकर बम, एक सॉफिस्टिकेटड पिस्टल, चार कार्टेज, एक मोटरसाइकिल मिली जो चोरी की हो सकती है। डीएसी ने कहा, ‘उसने खुद ही आईईडी तैयार करना सीख लिया था। उसने दिसंबर के आसपास आईडी बना लिया था और अपने गांव के कब्रिस्तान के पास छोटे स्तर पर टेस्ट भी किया था। उसके पास से मिली आईईडी भी उसी ने बनाई या किसी दूसरे ने, इसका पता लगाया जा रहा है।’
एक साल से थी पुलिस की नजर
डीएसपी ने बताया कि अबू यूसुफ और उसके संपर्क में रहने वालों पर पुलिस पिछले एक साल से नजर रख रही थी। उन्होंने कहा, ‘अगला आदेश उसे आत्मघाती हमला करने का मिला था। जब यहां सफल हो जाता तो यह आत्मघाती हमलावर बनने के लिए बेल्ट तैयार कर रखा था।’ उन्होंने कहा कि दिल्ली के किस इलाके में किस एरिया में धमाका करना चाहता था, इसकी पूछताछ हो रही है। उसके पास से कितनी मात्रा में विस्फोटक मिला है, इस सवाल के जवाब में डीएसपी ने कहा, ‘एनएसजी को बुलाया गया था, वही रिपोर्ट देगी कि कितनी मात्रा में विस्फोटक था।’ बहरहाल, अबू यूसुफ को अभी 8 दिन के पुलिस कस्टडी रिमांड में लिया गया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *