खिलाड़‍ियों के लिए स्कूल Kabaddi League मील का पत्थर साबित होगी : अठावले

नई दिल्ली । हमारे प्राचीन खेलों में सबसे अधिक लोकप्रिय खेल कब्बडी को देश के कोने – कोने में ले जाने के लिए यह स्कूल Kabaddi League -2019 एक माइल स्टोन बनेगी। स्कूल Kabaddi League की लांचिंग पर बच्चों के उत्साह को देखकर ऐसा लगता है कि हमारे खेल मंत्री किरण रिजिजू और स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ़ इंडिया ग्रामीण क्षेत्रों से योग्य खेल प्रतिभाओं को निखारने का काम कर रहे हैं। इस लीग की शुरुवात पर मैं आपको बधाई व शुभकामनाएं देता हूँ।

उक्त उदगार मुख्य अतिथि केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री रामदास अठावले ने दिल्ली के कंस्टीटूशन क्लब में स्कूल कब्बडी लीग के उदघाटन अवसर पर प्रकट किये। श्री रामदास अठावले ने कहा कि मुझे याद है जब मैं स्कूल में पढ़ता था तब भी कब्बडी लोकप्रिय खेल था लेकिन समय के साथ प्रारूप बदला और आज अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हमारे भारत देश के कब्बडी खिलाडी देश का नाम रोशन कर रहे हैं। जैसे पढाई के लिए सतत अध्ययन जरुरी है ऐसे ही खेलों का स्तर बढ़ाने के लिए प्रैक्टिस बहुत जरुरी है।

इस अवसर पर वशिष्ट अतिथि केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय के मंत्री श्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने अपने सम्बोधन में कहा कि बच्चों में खेल के प्रति लगाव और बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए ऐसे आयोजन होते रहने चाहिए। हमारे खेल मंत्री इस दिशा में अच्छा काम कर रहे हैं। हमारे देश के खिलाडी अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धाओं देश का नाम रोशन कर रहे हैं। मुझे आशा है आज जो बच्चे इस लीग का हिस्सा बने हैं कल वह भी देश के बड़े खिलाडी बनेंगे।

इस मौके पर स्कूल कब्बडी फडरेशन ऑफ़ इंडिया के महासचिव एम.एल साहू ने बताया कि अध्यक्ष नरेश मान  के प्रयास रहे कि आज हम यहाँ बच्चों की प्रतिभा को निखारने के लिए स्कूल गेम्स फडरेशन ऑफ़ इंडिया ने निर्देशन में इस स्कूल Kabaddi League-2019 का शुभारम्भ कर सके हैं। उन्होंने बताया कि इस लीग में स्कूल गेम्स फडरेशन से जुड़े 44 राज्यों एवं स्वायत संगठनों से जुड़े 18 वर्षीय बालक एवं बालिका वर्ग के 65 किलोग्राम वर्ग में बालक एवं 60 किलोग्राम वर्ग में बालिका वर्ग के बच्चे हिस्सा लेंगे जिनकी जन्मतिथि आयु 1 जनवरी 2002 होगी। कुल 760 जिलों में मुकाबले खेले जायेंगे। 1520 सह जिला संयोजक एवं संयोजक यह प्रतियोगिता सम्पन कराएँगे। पहले यह लीग जिला स्तर पर होगी, इसके बाद राज्य स्तर पर होगी, राज्य की विजेता टीम को नेशनल लीग खेलने का मौका मिलेगा। यह मंच इतना बढ़ा होगा की जिला स्तर से लेकर खिलाडी अपनी प्रतिभा राष्ट्रीय स्तर तक प्रदर्शित कर सकेंगें। सभी खिलाडियों के लिए स्कूल स्तर पर उम्दा खेल सामग्री एवं रहने खाने कि सुविधाएं प्रदान की जाएँगी। इस लीग में फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ़ इंडिया (पेफी) भी सहयोगी है जिसके देशभर में नियुक्त सदस्य शारीरिक शिक्षकों को यह प्रतियोगिता करने की जिम्मेदारी होगी। देशभर के सभी 760 जिलों में संयोजक नियुक्त किये जा चुके हैं। आज यह आगाज हो गया है अब 16 अगस्त तक सभी ट्रायल हो जाएंगे उसके बाद जिला स्तर पर संयोजक यह लीग आगे बढ़ाएंगे।

संयुक्त रूप से प्रतिभागी पेफी के राष्ट्रीय सचिव डॉ.पीयूष जैन ने बताया कि हमने अपने सभी शारीरिक अध्यापकों जो हमारे सदस्य सदस्य हैं उनकी टीम बना दी है। हमारा उद्देश्य केवल इस लीग को अच्छे से आयोजित करना है इसके लिए हमारे पास कवालिफ़ाइड कोच और रेफरी सभी का डाटा है जिनको हम दायित्व प्रदान कर रहे हैं।

कार्यक्रम में एम.सी तिवारी (आईएफएस),शिव नरेश स्पोर्ट्स के प्रबंध निदेशक शिव प्रकाश,स्कूल कब्बडी लीग के सन्नी सिंह,अश्वनी कुमार शुक्ल,हिमांशु तिवारी,राहुल यादव,योगेंद्र त्रिपाठी,आशीष भैया,रविकांत मिश्रा,हीरानंद कटारिया,सुनील कुमार समेत खेल जगत की जानी मानी हस्तियां उपस्थित थी।
र‍िपोर्ट -अशोक कुमार निर्भय

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *