SBI ने एडवाइजरी शेयर कर कस्टमर्स को बैंकिंग वायरस से अलर्ट किया

नई दिल्‍ली। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया SBI की ओर से कस्टमर्स के लिए एक एडवाइजरी शेयर की गई है और उन्हें खतरनाक बैंकिंग वायरस से अलर्ट किया गया है।
Cerberus नाम के खतरनाक मैलवेयर की मदद से अकाउंट होल्डर्स को निशाना बनाया जा रहा है। यह मैलवेयर फेक एसएमएस भेजकर यूजर्स को बड़े ऑफर्स के बारे में जानकारी देता है और अनजान लिंक्स पर क्लिक करवाने या फिर ऐप्स डाउनलोड करने के बाद उन्हें शिकार बना लेता है। ऐसे ऐप्स का मकसद अकाउंट होल्डर्स के पैसों पर हाथ साफ करना है।
ट्विटर पर SBI के ऑफिशल हैंडल पर किए गए ट्वीट में लिखा है, ‘ऐसे फेक एसएमएस से बचकर रहें जो बड़े ऑफर्स का लालच या मौजूदा महामारी से जुड़ी जानकारी देते हैं और अनजान लिंक्स पर जाने या फिर अनजान सोर्स से कोई ऐप्स डाउनलोड करने को कहते हैं। यह आपको नुकसान पहुंचाने की कोशिश है।’ पोस्ट में देश के सबसे बड़े पब्लिक सेक्टर बैंक ने एक इमेज भी शेयर की है, जिसमें ‘Cerberus Alert’ कैप्शन दिया गया है। यह हाल ही में रिलीज हुई वेब सीरीज पाताल लोक से इंस्पायर लग रहा है।
स्वर्ग, धरती और पाताल लोक
बड़े ही क्रिएटिव तरीके से एसबीआई ने स्वर्ग लोक, धरती लोक और पाताल लोक तीन हिस्सों में इसे बांटा है। इसमें पाताल लोक के यूजर्स को Cerberus ट्रोजन मैलवेयर को ऑनलाइन बैंकिंग करने वाले इन्फेक्टेड यूजर्स के लिए पाताल लोक बताया गया है। इसमें बताया गया है कि स्वर्ग लोक के ऐसे यूजर्स हैं, जिनपर हमेशा फ्रॉड का खतरा बना रहता है। धरती लोक के यूजर उन्हें माना गया है, जिन्हें इस मैलवेयर और खतरे का पता है और इसके बावजूद वे अनजान लिंक्स पर क्लिक करते हैं। वहीं, पाताल लोक के यूजर्स इन्फेक्टेड हो चुके हैं।
बैंकिंग डीटेल्स कर लेगा चोरी
सामने आया ट्रोजन मैलवेयर दरअसल यूजर्स के बैंकिंग डीटेल्स चोरी करने का काम करता है। इन डीटेल्स में क्रेडिट कार्ड नंबर्स, सीवीवी और बाकी डेटा शामिल है। इसके अलावा ट्रोजन की मदद से विक्टिम्स को शिकार बनाने के बाद उनकी पर्सनल जानकारी और टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन डीटेल्स भी चोरी किए जा सकते हैं। कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान फ्रॉड करने वाले भी पहले के मुकाबले ज्यादा ऐक्टिव हो गए हैं। यूजर्स को किसी अनजान लिंक पर क्लिक ना करने और केवल प्ले स्टोर या ऐप स्टोर से ही ऐप्स डाउनलोड करने की सलाह दी जाती है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »