Saudi Arabia ने कहा, आतंकवाद के खिलाफ जंग में हर तरह से भारत के साथ

Saudi Arabia के साथ काउंटर टेरिज्जम, समुद्री सुरक्षा और साइबर सुरक्षा समेत 5 मुद्दों पर हुए समझौते

नई दिल्‍ली। आज बुधवार को Saudi Arabia के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का भारत आगमन पर राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया। उन्होंने कहा कि आज हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि दोनों देशों की खातिर इस संबंध को बनाए रखा जाए और इसमें सुधार किया जाए। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने सऊदी अरब से भारत के रिश्तों की खास अहमियत का संकेत देते हुए सउदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का पालम एयरपोर्ट पर पहुंचकर अगवानी की थी।

पीएम मोदी प्रोटोकॉल तोड़कर एयरपोर्ट पहुंचे और गर्मजोशी से क्राउन प्रिंस का स्वागत किया। दोनों नेताओं के बीच बुधवार को शीर्ष स्तरीय द्विपक्षीय वार्ता हुई। सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस की भारत यात्रा ऐसे समय पर हो रही है जब पाकिस्तान प्रायोजित पुलवामा हमले को लेकर भारत में रोष है। क्राउन प्रिंस पाकिस्तान की यात्रा के बाद यहां आए हैं।

सऊदी प्रिंस ने कहा- 

भारत से हमारे रिश्ते पुराने हैं,

आतंकवाद पर भारत की हर संभव मदद करेंगे।

पीएम मोदी ने कहा- 

हम इस बात पर भी सहमत हुए हैं कि काउंटर टेरिज्जम, समुद्री सुरक्षा और साइबर सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में और मजबूत द्विपक्षीय सहयोग दोनों देशों के लिए लाभप्रद रहेंगे,

पश्चिम एशिया और खाड़ी में शांति और स्थिरता सुनिचित करने में हमारे दोनों देशों के साझा हित हैं। आज हमारी बातचीत में, इस क्षेत्र में हमारे कार्यों में तालमेल लाने और हमारी भागीदारी को तेजी से आगे बढ़ाने पर सहमति हुई है,

पीएम मोदी ने कहा, साथ ही अतिवाद के खिलाफ सहयोग और इसके लिए एक मज़बूत कार्ययोजना की भी ज़रूरत है, ताकि हिंसा और आतंक की ताकतें हमारे युवाओं को गुमराह न कर सकें। मुझे खुशी है कि सऊदी अरब और भारत इस बारे में साझा विचार रखते हैं,

पीएम मोदी ने कहा, आतंकवाद का इंफ्रास्ट्रक्चर नष्ट करना और इसको समर्थन समाप्त करना और आतंकवादियों और उनके समर्थकों को सजा दिलाना बहुत जरूरी है।

पिछले हफ्ते पुलवामा में हुआ बर्बर आतंकवादी हमला, इस मानवता विरोधी खतरे से दुनिया पर छाए कहर की एक और क्रूर निशानी है। इस खतरे से प्रभावशाली ढंग से निपटने के लिए हम इस बात पर सहमत हैं कि आतंकवाद को किसी भी प्रकार का समर्थन दे रहे देशों पर सभी संभव दबाव बढ़ाने की आवश्यकता है।

PM मोदी बोले-सऊदी अरब हमारा करीबी सहयोगी, भारत-सऊदी के बीच 5 समझौते हुए, दोनों देशों के लोगों के बीच घनिष्ठ संबंध,

सुरक्षा, व्यापार और सभी विषयों पर हुई सार्थक बात।

पीएम मोदी ने कहा, आज हमने द्विपक्षीय संबंधों के सभी विषयों ​​पर व्यापक और सार्थक चर्चा की है। हमने अपने आर्थिक सहयोग को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का निश्चय किया है।

भारत और सऊदी अरब के आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक सम्बन्ध सदियों पुराने हैं। और यह सदैव सौहार्द्रपूर्ण और मैत्रीपूर्ण रहे हैं। हमारे लोगों के बीच के घनिष्ठ और निकट संपर्क हमारे देशों के लिए एक सजीव सेतु है

सऊदी अरब के संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने में मदद मिलेगी: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सऊदी अरब के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सऊद का स्वागत करते हुए बुधवार को कहा कि उनकी यात्रा से दोनों देशों के संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने में मदद मिलेगी । प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ” भारत सऊदी अरब के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान का स्वागत करता है। इस यात्रा से भारत और सऊदी अरब के संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने में मदद मिलेगी। मंगलवार को सऊदी अरब के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान बिन अब्दुल अजीज के आगमन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रोटोकाल से अलग हटते हुए स्वयं उनकी आगवानी की । सऊदी अरब के शहजादे भारत की पहली द्विपक्षीय यात्रा पर आए हैं। मोहम्मद बिन सलमान का आज सुबह राष्ट्रपति भवन में पारंपरिक स्वागत किया गया जहां उन्होंने सलामी गारद का निरीक्षण किया। इस अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी मौजूद थे।

भारत और सऊदी प्रायद्वीप का रिश्ता काफी पुराना है: सऊदी प्रिंस
सऊदी अरब के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान ने कहा कि वह भारत की यात्रा पर आकर बहुत प्रसन्न हैं। भारत और सऊदी प्रायद्वीप का रिश्ता काफी पुराना है जो 2000 वर्षो से भी पहले से शुरू होता है। उन्होंने कहा कि भारत और सऊदी प्रायद्वीप का रिश्ता हमारे डीएनए में बसा है। सऊदी अरब के शहजादे ने कहा कि भारत के लोग हमारे मित्र हैं और पिछले 70 वर्षो से सऊदी अरब को आगे बढ़ाने में योगदान दे रहे हैं। दो दिवसीय इस यात्रा के दौरान इस बात पर ध्यान होगा कि सऊदी (अरब) भारत के लिये किस प्रकार से काम कर सकता है। हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि दोनों देशों की खातिर हम इस संबंध को किस प्रकार बनाये रखेंगे और बेहतर बनायेंगे ।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »