कश्मीर पर पाकिस्‍तान की प्रोपेगेंडा पॉलिसी को सऊदी अरब ने दिया जोरदार झटका

जम्मू-कश्मीर को लेकर दुनिया भर में प्रोपेगेंडा करने की पाकिस्तान की कोशिश को सऊदी अरब ने करारा झटका दिया है।
पाकिस्तान ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (OIC) की बैठक में जम्मू कश्मीर के मसले को उठाना चाहता था, लेकिन सऊदी अरब ने इससे मना कर दिया है। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक पाकिस्तान OIC के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों के बीच कश्मीर के मुद्दे पर तत्काल चर्चा कराना चाहता था लेकिन सऊदी ने इससे साफ इंकार कर दिया है।
OIC मुस्लिम देशों का संगठन है, जिसमें चार महादेशों के 57 देश सदस्य हैं। OIC के वरिष्ठ अधिकारियों की 9 फरवरी को जेहाद बैठक होने वाली है। इसमें पाकिस्तान जम्मू कश्मीर पर चर्चा कराना चाहता है लेकिन सऊदी इसके लिए तैयार नहीं है।
यहां गौर करने वाली बात यह है कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ओआईसी की बैठक को ध्यान में रखकर कहा है कि कश्मीर पर मुस्लिम देशों को एकजुटता का संदेश देना चाहिए। हालांकि कश्मीर पर सऊदी की ओर से इंकार किए जाने के बाद पाकिस्तान के मंसूबे पर पानी फिर गया है।
इससे पहले मलेशिया में भी मुस्लिम देशों ने जम्मू कश्मीर पर चुप्पी साध ली थी, जिसके बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि मुस्लिम देशों को धार्मिक आधार पर एकजुट होना चाहिए।
मालूम हो कि भारतीय संसद ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी कर दिया था, जिसके बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पाकिस्तानी पीएम इमरान खान संयुक्त राष्ट्र समेत कई अंतर्राष्ट्रीय मंचों से कश्मीर का मुद्दा उठा चुके हैं लेकिन उन्हें हमेशा निराशा ही हाथ लगी है। अब मुस्लिम देशों के संगठन OIC ने भी कश्मीर को तवज्जो देने से इंकार कर दिया है।
उल्‍लेखनीय है कि भारत की ओर से लुक ईस्ट नीति अपनाने के बाद से सऊदी अरब के साथ रिश्ते मजबूत होते जा रहे हैं। सऊदी के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान बिन सऊद के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काफी अच्छे रिश्ते हैं। सऊदी के प्रिंस पिछले साल संदेश दे चुके हैं कि वह भारत और पाकिस्तान दोनों के साथ अलग-अलग दोस्ती के रिश्ते रख रहे हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *