संस्कृति विश्वविद्यालय ने मनाया Physiotherapy Day

मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ़ मेडिकल एंड अलाइड साइंसेज ने कल Physiotherapy Day पूरे जोश और उत्साह के साथ मनाया। स्कूल ऑफ़ मेडिकल एंड अलाइड साइंसेज के छात्र एवं छात्राओं तथा संकाय सदस्यों ने काफी जोशोखरोश के साथ कार्यक्रम का सफल सञ्चालन किया।
कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत सरस्वती वंदना एवं दीप प्रज्जवलन के साथ हुई। उद्घाटन समारोह में  ओएसडी श्रीमती मीनाक्षी शर्मा ने फिजियोथेरेपी की  बढ़ती उपयोगिता एवं महत्व के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने आये हुए विशिष्ट मेहमान को शाल तथा मोमेंटो देकर स्वागत किया। इस अवसर पर छात्रों ने पोस्टर प्रदर्शनी का भी आयोजन किया।
कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि डॉ. हेमंत गौर ने  फिजियोथेरेपी के क्षेत्र में हो रहे तेजी से बदलावों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने फ़िज़ियोथेरेपिस्ट के द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले महत्वपूर्ण डीटीआर तकनीक के बारे में विस्तार से समझाया। उन्होंने फिजियोथेरेपी में मोटिवेशन और मार्केटिंग टेक्निक्स के बारे में सभी  फिजियोथेरेपी के छात्रों को अवगत कराया। मध्याहन भोजन के बाद के सेशन में क्रोनिक पेन मैनेजमेंट के कई तकनीकों के बारे में परिचर्चा हुई ताकि मरीजों को दर्द से यथाशीघ्र निजात दिलाई जा सके।
कुलाधिपति सचिन गुप्ता ने स्कूल ऑफ़ मेडिकल एंड अलाइड साइंसेज  के सभी संकाय सदस्यों तथा सभी छात्रों को  फिजियोथेरेपी दिवस  के शुभ अवसर पर हार्दिक बधाई देते हुए कहा कि छात्रों एवं शिक्षकों को फिजियोथेरेपी  के क्षेत्र में अध्ययन, अध्यापन तथा शोध के नए आयाम स्थापित करने चाहिए ताकि लोगो को बेहतर स्वास्थ सुविधाएं प्रदान की जा सकें।
कुलपति डॉ. राणा सिंह ने सभी छात्रों एवं स्कूल ऑफ़ मेडिकल एंड अलाइड साइंसेज के सभी संकाय सदस्यों एवं छात्रों को  Physiotherapy Day की  बधाई देते हुए कहा कि उन्हें नै तकनीकों से लैस होकर शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में कैंप लगाकर मथुरा एवं आस पास के निवासियों को बेहतर स्वास्थ सुविधएं प्रदान की जा सकें।
50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *