संस्कृति आयुर्वेद कॉलेज ने लगाया नि:शुल्क चिकित्सा शिविर

मथुरा। संस्कृति आयुर्वेद मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल द्वारा लगाए जा रहे निशुल्क चिकित्सा सहायता शिविर के क्रम में एक शिविर छाता स्थित हनुमान मंदिर, सुनारों वाली बगीची के सभागार में आयोजित किया गया। शिविर में क्षेत्रीय लोगों को निशुल्क चिकित्सा परामर्श, दवाओं का वितरण किया गया। इस मौके पर चिकित्सकों ने शिविर में आने वाले लोगों को अच्छे स्वास्थ्य का महत्व और कोरोना से बचाव के बारे में भी विस्तार से बताया।

प्रातः 10 बजे से शुरू होने वाले इस शिविर का विधिवत उद्घाटन फीता काटकर छाता की नायब तहसीलदार सुश्री राखी शर्मा ने किया। उन्होंने शिविर में उपस्थित चिकित्सकों से कई बिंदुओं पर विस्तार से जानकारी हासिल की। उन्होंने इस मौके पर कहा कि आयुर्वेद एक प्राचीन चिकित्सा पद्धति है और भारत की यह एक ऐसी दोषरहित चिकित्सा पद्धति है जिसपर हर देशवासी गर्व कर सकता है। ऋषियों के अथक परिश्रम और वर्षों के शोध का फल है। संस्कृति आयुर्वेद कालेज की डॉ. दीपा ने मुख्य अतिथि को बताया कि आयुर्वेद ही ऐसी चिकित्सा पद्धति है जो रोगों का जड़ से निदान करती है। आयुर्वेदिक औषधियों का कोई साइड अफेक्ट नहीं होता। चिकित्सक की देखरेख और मशविरे से अनेक असाध्य रोगों का भी इस पद्धति में इलाज संभव हो सका है।

संस्कृति आयुर्वेद कॉलेज के चिकित्सकों ने शिविर के दौरान आए लोगों के स्वास्थ्य का परीक्षण कर संबधित परामर्श दिया। जिन लोगों में किसी रोग के लक्षण पाए गए उनको निशुल्क दवाई देकर उपचार के निर्देश दिए। शिविर में काय चिकित्सा विशेषज्ञ डा. जगदीश पिल्लई, बाल रोग विशेषज्ञ डा. अनीश जौन, पंचकर्मा विशेषज्ञ डा. दीपा, प्रसूति रोग विशेषज्ञ डा. निशा, शल्य चिकित्सक डा. उत्कर्ष, आंख, कान, नाक और गला रोग विशेषज्ञ डा. वैशाख मौजूद रहे। शिविर के आयोजन में संस्कृति विवि के रूप किशोर शर्मा, प्रवीन शर्मा, अरविंद चतुर्वेदी आदि का भी सहयोग रहा।
– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *