संघ प्रमुख मोहन भागवत ने की मोदी के नेतृत्‍व की प्रशंसा

मांडा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व की प्रशंसा की. उन्होंने मंगलवार को कहा कि दुनिया में देश का नाम रोशन हो रहा है और भारत विकास कर रहा है. ललिता शास्त्री पब्लिक स्कूल में पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री और उनकी पत्नी ललिता शास्त्री की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद एक कार्यक्रम में भागवत ने हाल के डोकलाम गतिरोध के संदर्भ में भी अपनी बात रखी.
मोहन भागवत ने कहा, “भारत की सामरिक ताकत का महत्व पहले से था, लेकिन अब सामरिक नीति भी किसी देश से दबने वाली नहीं है. आदिकाल से दुनिया के सामने हमारा रुख कभी अप्रामाणिक नहीं रहा….हम जो बोलते हैं वो करते हैं और जो नहीं किया वह कभी बोला नहीं.”
लाल बहादुर शास्त्री के बारे में उन्होंने कहा, “शास्त्री जी के जीवन को देखने से क्या ऐसा नहीं लगता कि वह वास्तव में गणनायक, विघ्नहर्ता थे. उन्होंने पाकिस्तान से युद्ध के समय लोगों को सोमवार का उपवास रखवाया…..आज भी लोग उसका पालन करते हैं. उस नेता के आह्वान पर लोग हिले थे. यह दृश्य बहुत दिनों से हमें दिखा नहीं….अब थोड़ा थोड़ा दिख रहा है…..दिखता है कि लोग स्वच्छता अभियान में लगे हैं.”
आरएसएस प्रमुख ने कहा, “ये लोग विघ्न हरने और सुख समृद्धि लाने की गणेश की क्षमता के प्रतीक हैं.” कार्यक्रम में लाल बहादुर शास्त्री के पुत्र सुनील शास्त्री ने आरएसएस प्रमुख को शास्त्री जी के जीवन पर लिखी पुस्तक ‘धरती के लाल’ और ललिता शास्त्री के जीवन पर लिखी पुस्तक ‘समर्पित साधिका’ भेंट की.
इस मौके पर भागवत के अलावा उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री और लाल बहादुर शास्त्री के नाती सिद्धार्थ नाथ सिंह, लाल बहादुर शास्त्री के पुत्र अनिल शास्त्री, सुनील शास्त्री, पूर्व मेयर जितेन्द्र नाथ चौधरी के अलावा शास्त्री के दूसरे परिजन मौजूद थे.
-एजेंसी