रेत के जादूगर Sudarshan Patnaik को ‘पीपल्स च्वाइस अवार्ड’

बोस्टन। रेत के जादूगर Sudarshan Patnaik को बोस्टन, अमेरिका में ‘पीपल्स च्वाइस अवार्ड’ से नवाजा गया है। उन्हें उनकी रेत पर कलाकृति ‘स्टॉप प्लास्टिक पॉल्यूशन, सेव आर ओशन’ के लिए ‘पीपल्स च्वाइस अवार्ड’ से सम्मानित किया गया।

बोस्टन में आयोजित 16वें रेवरे बीच इंटरनेशनल सैंड स्कल्पटिंग फेस्टिवल में अपनी कला का प्रदर्शन करने के लिए Sudarshan Patnaik समेत दुनियाभर से केवल 15 कलाकारों को चुना गया था। इस महोत्सव में पटनायक समूचे एशिया का प्रतिनिधित्व कर रहे थे।

मशहूर भारतीय रेत कलाकार एवं पद्म पुरस्कार से सम्मानित सुदर्शन पटनायक को अमेरिका में ‘सैंड स्कल्पटिंग फेस्टिवल’ में ‘पीपल्स च्वाइस अवार्ड’ से सम्मानित किया गया है। सुदर्शन ने महासागरों में प्लास्टिक प्रदूषण से निपटने संबंधी संदेश देते हुए रेत पर कलाकृति बनाई थी। मैसाचुसेट्स के बोस्टन में ‘रिवीर बीच’ पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय ‘सैंड स्कल्पटिंग फेस्टिवल’ 2019 में हिस्सा लेने के लिए विश्व भर से चुने गए 15 शीर्ष रेत कलाकारों में पटनायक भी शामिल थे।

पद्मश्री से सम्मानित ओडिशा के रहने वाले पटनायक ने इस महोत्सव में अपनी कलाकृति ‘प्लास्टिक प्रदूषण रोको, महासागर को बचाओ’ के जरिये ना सिर्फ दर्शकों का दिल जीता बल्कि उन्हें महासागरों के प्रदूषण के प्रति जागरूक भी किया।

इसमें उन्होंने प्लास्टिक बैग में फंसे कछुए और मछली के पेट में फंसी चप्पल, बोतल आदि को दर्शाया था। मछली की पूंछ इंसान के मुंह में दिखाई गई थी। उनका संदेश था कि प्लास्टिक प्रदूषण से सिर्फ समुद्री जीव ही नहीं मनुष्य भी प्रभावित हो रहे हैं।

अवार्ड जीतने पर अपनी खुशी व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा, ‘अमेरिका का यह प्रतिष्ठित पुरस्कार जीतना मेरे लिए सम्मान की बात है। यह पुरस्कार भारत के लिए है, जो प्लास्टिक प्रदूषण से निपटने के लिए गंभीर प्रयास कर रहा है।’
-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *