फिनलैंड की सबसे युवा प्रधानमंत्री बनीं 34 साल की Sana Marin

हेलसिंकी। फिनलैंड में 34 साल की Sana Marin व‍िश्व की सबसे युवा प्रधानमंत्री बनी हैं। वह फिनलैंड के इतिहास के साथ वर्तमान में दुनिया की सबसे युवा प्रधानमंत्री भी बन गई हैं। मरीन ने रविवार को हुआ मतदान जीतकर निवर्तमान नेता एंटी रिने का स्थान लिया जिन्होंने डाक हड़ताल से निपटने को लेकर गठबंधन सहयोगी सेंटर पार्टी का विश्वास खोने के बाद मंगलवार को इस्तीफा दे दिया था।

मरीन ने रविवार रात को पत्रकारों से कहा कि हमें फिर से विश्वास बहाल करने के लिए काफी काम करना होगा। अपनी उम्र से संबंधी सवालों पर उन्होंने कहा कि मैंने कभी अपनी उम्र या महिला होने के बारे में नहीं सोचा। मैं कुछ वजहों से राजनीति में आयी और इन चीजों के लिए हमने मतदाताओं का विश्वास जीता।

बता दें कि एंटी रिने के प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद से ही उम्मीद लगाई जा रही थी कि सना मरिन देश की बागडोर संभाल सकती हैं। इससे पहले वह परिवहन और संचार मंत्री थीं।
प्रधानमंत्री पद के लिए चुने जाने के बाद मरीन ने कहा कि विश्वास दोबारा कायम करने के लिए हमें बहुत काम करना होगा। मैंने अपनी उम्र या लिंग के बारे में कभी नहीं सोचा है। मैं मेरे राजनीति में आने के कारणों और उन चीजों के बारे में सोचती हूं जिनके लिए हमने मतदाताओं का विश्वास जीता है।

कौन हैं सना मरीन
सना मरीन का जन्म 16 नवंबर 1985 को फिनलैंड में हुआ था। उन्होंने 2012 में प्रशासनिक विज्ञान में टैम्पियर विश्वविद्यालय से स्नातक किया। 2012 में उन्हें टैम्पियर की नगर परिषद के लिए चुना गया। वह वह 2013 से 2017 तक सिटी काउंसिल की चेयरपर्सन भी रहीं। वह 2015 में पहली बार संसद सदस्य बनीं। जून 2019 में वह सरकार में शामिल हुईं और उन्हें परिवहन और संचार मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया।

फिनलैंड के बारे में जानिए
फिनलैंड उत्तरी यूरोप में स्थित है। जिसकी राजधानी हेलसिंकी है। इसकी सीमा पश्चिम में स्वीडन, पूर्व में रूस और उत्तर में नार्वे से मिलती है। इस देश की आबादी करीब 53 लाख है।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »