संजीवनी बूटी है सहजन या Drumstick की फली

नई दिल्‍ली। सहजन जिसे हम अंग्रेजी में Drumstick भी कहते हैं नुट्रिशन डायनामाइट के नाम से जाना जाता है । इसकी फली को कई नामों से जाना जाता है जैसे मुनगा,सुरजना या सींग फली ये कुपोषण दूर करने में एक महत्वपूर्ण पौधा है। अफ्रीकन देशों में इसे माताओं का सबसे अच्छा दोस्त कहते है और पश्चिमी देशों में इसे नुट्रिशन डायनामाइट के नाम से जाना जाता है। 100 से भी अधिक तरीकों से इसका उपयोग पोषण के लिए होता है । मुनगे की फली से जहां स्वादिष्ट सब्ज़ी है तो वहीं इसे सेक कर खाने पर ये मूंगफली जैसा स्वाद देता है | मुनगे के बीज से तेल,छाल से गोंद और जड़ से आयुर्वेदिक दवाईया और तने फूलपत्ती से खाद्य तेल मिलता है। मुनगा 300 से भी अधिक बीमारिओं के उपचार में काम आता है ।

 

Drumstick या मुनगे के बीज के चूर्ण से पानी शुद्ध किया जाता है इस तरह मुनगा आज के युग की संजीवनी बूटी है |

बच्चों के लिए उपयोगी 

मुनगे की पत्तियाँ शिशु और बढ़ते बच्चों के लिए टॉनिक के समान है। मुनगे की पत्तियों के 25 ग्राम चूर्ण में अद्भुत गुण होते है और इसकी समानता नीचे दिए गए चित्र में की गयी है।

इसकी पत्तियों का रस बच्चों को दूध में मिलाकर देने से बच्चों की हड्डिया मजबूत होती है।

Drumstick से महिलाओं को लाभ

महिलाओं को मूनगे से विटामिन,आयरन और अमीनो एसिड मुनगे की पत्तियों का रस गर्भवती माताओं को प्रसव पीड़ा से राहत देता है और इससे माताओं में दूध का स्त्राव भी बढ़ जाता है।

इस तरह लगाए मुनगा

मुनगे को लगाने के लिए ताज़े बीजों को रात भर पानी में भिगोएं खाद और बालू रेत मिली 8 *4 की पॉलीथिन बैग में 2 बीज प्रति बैग १-२ इंच की गहराई में बीज को लगाए | एक माह बाद पौधों को 1.5 *1.5 के गड्डो में लगाएं हल्की सिंचाई करें | 6 माह बाद ये पौधा फल देने लगता है।

पत्तियों से लाभ

मुनगे की पत्तियाँ बहुत लाभदायक है इसे भंडारित भी किया जा सकता है। सर्वप्रथम पत्तियों को तोड़े छाया में सुखाएं कूट कर बारीक करें इसे छान ले और फिर आप इस चूर्ण को सब्जी के मसालों की तरह मिला दें या फिर काढ़ा बना कर या फिर रोटी के आटे में गूंथकर आप उपयोग कर सकते है और तो और आप इसके चूर्ण को THR के पाउडर में मिला कर लड्डू और चक्की बना के भी उपयोग कर सकते है ।

डाइटचार्ट के माध्यम से ये बता सकते है कि किस बच्चे को किस मात्रा में मुनगे का चूर्ण उपयोग करना चाहिए। तो आइये कुपोषण के खिलाफ हम सभी एक हो और माताओं और बच्चों को निरोगी बनाने में योगदान दे
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »