KD Hospital में हुआ बच्‍ची का सेजाइटल एनोरेक्टोप्लास्टी आॅपरेशन

मथुरा। मल्टी स्पेशियेलिटी हास्पीटल के शिशु शल्य चिकित्सक डा. श्याम बिहारी शर्मा के नेतृत्व वाली टीम ने तीन माह की बालिका को आजीवन भर की परेशानी से मुक्ति दिला दी है। उल्लेखनीय है कि बालिका के मलद्वार के यथा स्थान पर न होने से वह पेशाब के रास्ते से मल त्याग कर रही थी। जबकि पेशाब के लिए अलग से मार्ग पूर्व से ही बना था। आॅपरेशन के बाद अब बालिका बनाए गए नए मलद्वार से मल त्याग कर सकेगी। जबकि पेशाब भी यथा मार्ग से करना संभव हो गया है। बालिका को जन्म जात विकृति रेक्टो वेस्टिबूलर फिस्टुला से मुक्ति मिल गई है।

KD Hospital में तीन माह की बालिका की जन्मजात विकृति पर सेजाइटल एनोरेक्टोप्लास्टी आॅपरेशन सफल

मल्टी स्पेशियेलिटी KD Hospital के शिशु शल्य चिकित्सक डा. श्याम बिहारी शर्मा के नेतृत्व वाली टीम नेबालिका का एंटीरियर सेजाइटल एनोरेक्टोप्लास्टी आॅपरेशन कर दी आजीवन राहत

 मथुरा के बाजना निवासी बनिया की पत्नी को तीन माह पूर्व एक बालिका ने जन्म लिया। इस बालिको मल त्याग पेशाब के रास्ते हो रहा था। जबकि पेशाब के लिए प्रकृति ने अलग से मार्ग बना रखा था। जागरुक माता-पिता को जब उनके ही मिलने वाले ने केडी हास्पीटल में इस तरह के आॅपरेशन करने वाले चिकित्सक के बारे में जानकारी दी तो उसे चिकित्सालय की ओपीडी में लेकर आए। डा. श्याम बिहारी शर्मा ने जरुरी जांचें कराने के बाद परिजनों को आॅपरेशन कराने की सलाह दी। उन्होंने बताया कि बालिका का एंटीरियर सेजाइटल एनोरेक्टोप्लास्टी नामक आॅपरेशन होगा। जिसे अन्य चिकित्सालयों में ये आॅपरेशन तीन चरणों में पूरा किया जाता है। इसे वह एक चरण में ही पूरा करने का प्रयास करेंगे। परिजनों की सहमति मिलने के बाद एक ही चरण में आॅपरेशन सफलता पूर्वक पूरा कर लिया गया। आॅपरेशन के दौरान डा. श्याम बिहारी शर्मा, डा. आशुतोष कुमार सिंह, डा. अंशु, डा. विक्रम निश्चेतना विशेषज्ञ डा. मंजू सक्सेना, डा. संतोष गुप्ता, सहायक के तौर पर दिनेश एवं प्रियंका मौजूद रहे।

दिल्ली- आगरा से बेहतर तकनीकी सुविधा पाएं-डा. श्याम बिहारी शर्मा
डा. श्याम बिहारी शर्मा ने केडी हास्पीटल की ओपीडी में बताया कि बालिका के आॅपरेशन में उनको दो घंटे से अधिक समय लगा। एक ही चरण में आॅपरेशन सफलता पूर्वक पूरा करने के लिए पूरी टीम को काफी मेहनत करनी पडी। ब्रजवासी शिशुओं के ऐसे जटिल आॅपरेशन के लिए दिल्ली और आगरा जाने के बजाय केडी हास्पीटल में उनसे आकर मिलें। हर मरीज को दिल्ली और आगरा के स्तर से बेहतर तकनीकी सुविधा देने का पूरा प्रयास उनके द्वारा किया जाएगा।

चिकित्सकों के अनुभव का लाभ हर वर्ग के लोग लें-डा. राम किशोर अग्रवाल
आरके एजुकेशन हब के चैयरमेन डा. रामकिशोर अग्रवाल, वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल और एमडी मनोज अग्रवाल ने कहा कि शिशु शल्य चिकित्सा काफी संवेदनशील होती है। इसके लिए चिकित्सक का विशेषज्ञ और अनुभवी होना जरुरी है। यदि ऐसा न हो तो मरीज के स्वस्थ होने की संभावना कम हो जाती है। जबकि केडी हास्पीटल के सर्जरी विभाग में एक से एक अनुभवी, उर्जावान और विशेषज्ञ चिकित्सक उपलब्ध है। जो ऐेसे जटिल आॅपरेशन बडी सरलता से सफलता पूर्वक कर रहे हैं। इन चिकित्सकों के अनुभव का लाभ समाज के हर वर्ग के लोगों को लेना चाहिए। उन्हें अपनी स्वास्थ्य संबंधी हर परेशानी से चिकित्सकों को अवगत कराना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *