हिंदू आतंकवाद के नाम पर साध्वी को झूठे केस में फंसाया गया: अमित शाह

कोलकाता। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का बचाव किया है। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में साध्वी से जुड़े एक सवाल के दौरान शाह ने दो टूक कहा कि साध्वी को झूठे केस में फंसाया गया। इस दौरान शाह ने यह भी सवाल उठाया कि समझौता एक्सप्रेस में ब्लास्ट करने वाले लोग अब कहां हैं?
उधर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता शिवराज सिंह चौहान भी अब प्रज्ञा के बचाव में उतर आए हैं। एक टीवी चैनल के साथ इंटरव्यू में शिवराज ने साफ कहा कि बिना किसी अपराध के कानून का गलत उपयोग करके साध्वी को ना सिर्फ जेल में रखा गया बल्कि उन्हें यातनाएं भी दी गईं।
कोलकाता में एक प्रेस वार्ता में साध्वी प्रज्ञा से जुड़े सवाल पर शाह ने कहा, ‘जहां तक साध्वी प्रज्ञा का सवाल है तो मैं कहना चाहूंगा कि हिंदू टेरर के नाम से एक फर्जी केस बनाना गया था, दुनिया में देश की संस्कृति को बदनाम किया गया, कोर्ट में केस चला तो इसे फर्जी पाया गया।’ शाह ने आगे कहा, सवाल ये भी है कि स्वामी असीमानंद और बाकी लोगों को आरोपी बनाकर फर्जी केस बनाया तो समझौता एक्सप्रेस में ब्लास्ट करने वाले लोग कहां है, जो लोग पहले पकड़े गए थे, उन्हें क्यों छोड़ा।
‘साध्वी प्रज्ञा भारत की बेटी, उनके साथ हुआ अन्याय’
उधर एक निजी टीवी को दिए इंटरव्यू में शिवराज ने भी प्रज्ञा का बचाव करते हुए उन्हें भारत की बेटी बताया। शिवराज ने कहा, भारत की एक ऐसी बेटी जो सन्यासी है, जिसने पूरे जीवन को एक मकसद के लिए समर्पित कर दिया, उन्हें बिना किसी अपराध के कानून का गलत इस्तेमाल कर जेल भेजा जाता है। उन पर अन्याय होता है।
इतना ही नहीं, आप भगवा आतंकवाद और हिंदू आतंकवाद का शब्द गढ़ते हैं और हिंदुत्व को बदनाम करने की साजिश करते हैं। मैं फिर कह रहा हूं कि हिंदू और आतंकवाद कभी कोई तालमेल नहीं है।
‘एक बार बीजेपी को भी दें मौका…खूब होगा विकास’
पश्चिम बंगाल की जनता से बीजेपी को वोट देने की अपील के साथ शाह ने कहा, ‘आपने लंबे समय तक यहां वामदलों को मौका दिया। उसके बाद आपने ममता दीदी पर भरोसा दिखाया। पर इन सभी ने आपके भरोसे को तोड़ा है। मैं आपको आश्वासन देता हूं कि एक बार बीजेपी को मौका देकर देखिए, हम सूबे को विकास के पथ पर आगे ले जाएंगे। हम पश्चिम बंगाल को नई ऊंचाई देंगे।’
‘हमारे नेताओं को रैली करने से रोकती हैं ममता’
ममता सरकार पर तानाशाही रवैये का आरोप लगाते हुए शाह ने कहा, ‘वह हमारे नेताओं को रैली नहीं करने देती हैं। हमारे हेलिकॉप्टर नहीं उतरने देती हैं पर अब उन्हें खुद इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। जनता खुद उनकी रैलियों का बहिष्कार कर रही है। उनकी रैलियों में भीड़ ही नहीं दिखती।’
‘वोटरों को डरा रही है ममता सरकार’
ममता सरकार पर वोटरों को डराने का आरोप लगाते हुए शाह ने कहा, पिछले दो चरण के चुनावों में ही ममता बनर्जी बंगाल में अपनी हार देखने लगी हैं। इसी वजह से उनकी बौखलाहट बढ़ गई है। ऐसे में वह चुनाव आयोग पर भी निशाना साध रही हैं। पर, आपको (मतदाता) डरने की जरूरत नहीं है। आप एकजुट होकर बूथ पर जाइए और अपने मत का प्रयोग कीजिए। प्रदेश में लोकतंत्र लाना है तो बीजेपी की जीत जरूरी है।
‘विपक्ष के पास ना नेता और ना ही नीति’
पूरे विपक्ष पर हमला बोलते हुए शाह ने कहा कि उनके पास ना नेता है और ना ही नीति है। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, वे सभी मिल गए हैं पर उनके पास एक नेता तक बताने को नहीं है। देश के विकास या सुरक्षा के सवाल पर सभी मौन हैं। उनके पास कोई नीति नहीं है जबकि हम स्पष्ट हैं। भ्रष्टाचार, आतंकवाद, एनआरसी या फिर कोई भी मुद्दा जो देश हित से जुड़ा है, उसके बारे में हमारी स्पष्ट नीति है और हमने अपने संकल्प पत्र में इसे स्पष्ट तौर पर सबके सामने रखा है।
‘देश में भर में लागू करेंगे NRC’
शाह ने कहा , ‘हम एनआरसी को देशभर में क्रियान्वित करेंगे। सिटिजन अमेंडमेंट बिल के माध्यम से दूसरे देशों से धार्मिक वजहों से हमारे देश में जो लोग शरणार्थी बनकर आएं हैं, उन्हें नागरिकता देने की बात भी हमने संकल्प पत्र में कही है।’ इस दौरान शाह ने दो टूक कहा कि हिंसा की एक सीमा होती है, लेकिन जब जनता तय करती है परिवर्तन करना है तो इसे कोई बदल नहीं सकता। इस बार जनता ने तय किया है कि टीएमसी को हटाना है और बीजेपी को लाना है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »