Sadhvi Pragya की प्रेस कांफ्रेंस, पुलिस टॉर्चर की सुनाई दासतां कहा- पिटते-पिटते सुबह हो जाती थी

भोपाल। भोपाल से भाजपा उम्मीदवार Sadhvi Pragya ठाकुर आज एक कार्यक्रम में बोलते-बोलते भावुक हो गईं। उन्होंने पुलिस हिरासत में रहने के दौरान टॉर्चर की बात कही। Sadhvi Pragya ने कहा कि
जब मुझे गैरकानूनी तरीके से लेकर गए तो 13 दिन तक रखा। हिरासत में मुझे मोटी बेल्ट से पीटा गया। उसे झेलना आसान नहीं था। पूरा शरीर सूज जाता था, सुन्न पड़ जाता था।

उन्होंने पुलिस की पिटाई की बात करते हुए कहा कि दिन और रात पीटते थे। मैं आपको अपनी पीड़ा नहीं बता रही हूं। लेकिन इतना कह रही हूं कि कोई महिला कभी इस पीड़ा का सामना न करे। पीटते, पीटते गंदी गालियां देते थे। वो कहलवाना चाहते थे कि तुमने एक विस्फोट किया है और मुस्लिमों को मारा है। सुबह हो जाती थी पिटते-पिटते, पीटने वाले लोग बदल जाते थे लेकिन पिटने वाली मैं सिर्फ अकेले रहती थी।

तफसील से पुलिस टॉर्चर की जानकारी देते-देते साध्वी प्रज्ञा के आंसू बह निकले। उन्होंने कुछ पल ठहरकर अपने भगवा चोले से आंसू पोंछे और आगे की बात बताई।

ये पहली बार है, जब बुधवार को उम्मीदवारी की औपचारिक घोषणा के बाद साध्वी ने आज स्थानीय लोगों के बीच सभा की हो। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को सितंबर 2008 में हुए मालेगांव धमाकों के मामले में गिरफ्तार किया गया था। अप्रैल 2017 में एनआईए के एतराज न करने पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी। फिलहाल वो जमानत पर हैं।

भोपाल में साध्वी का मुकाबला कांग्रेस के दिग्गज और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से है। दिग्विजय ने बुधवार को ट्विटर के जरिए साध्वी की उम्मीदवारी का स्वागत किया था।

भोपाल लोकसभा सीट पर 1984 के बाद से लगातार भाजपा का कब्जा रहा है। ऐसे में दिग्विजय के सामने चुनौती कड़ी है। भाजपा ने दिग्विजय की छवि के सामने साध्वी की छवि खड़ी कर दी है, जिसने इस पूरे मुकाबले को बेहद दिलचस्प बना दिया है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »