ज़मीनी विवाद में Sadhvi कोयल गिरी ने खुद को लगाई आग, हालत चिंताजनक

बरेली। तिलहर की Sadhvi कोयल गिरी को गंभीर रूप से झुलसी अवस्था में ईशान अस्पताल में भर्ती किया गया है। शुक्रवार रात नौ बजे Sadhvi कोयल ने खुद पर मिट्टी का तेल छिड़क कर आग लगा ली। कमरे से उठता धुंआ और चीख-पुकार सुनकर परिवार के लोगों ने साध्वी को कमरे से बाहर निकाला लेकिन तब तक वह काफी ज्यादा जल चुकी थी। उनको आनन-फानन मे बरेली के अस्पताल मे भर्ती कराया जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। करीब डेढ़ साल पहले उन्होंने मन कामेश्वर मठ से दीक्षा ली थी। साध्वी 2012 में पीस पार्टी से विधानसभा चुनाव लड़ चुकी हैं और इस वक्त उनके उपर धोखाधड़ी के कई मुकदमे दर्ज हैं और इन मुकदमों के चलते वह जेल भी जा चुकी हैं। पिछले कई दिनों से वह डिप्रेशन की शिकार थीं।

वह गंभीर हालत में बरेली स्थित ईशान अस्पताल के आईसीयू में भर्ती हैं। डॉक्टरों ने उनकी हालत चिंताजनक बताई है।

शनिवार को पुलिस कोयल गिरी के घर पहुंची। एसआई संसार सिंह ने कोयल की मां और भाई अखिलेश से पूछताछ की।

22 वर्षीय साध्वी कोयल गिरी उर्फ सीमा वर्मा तिलहर विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2012 में चुनाव लड़ चुकीं हैं। वह तिलहर के मोहल्ला बहादुरगंज में रहती हैं। साध्वी कोयल जूना अखाड़े से जुड़ी थी, लेकिन जनवरी 2018 में उन्होंने जूना अखाड़े से सन्यास ले लिया था।

डॉक्टर के मुताबिक कोयल की हालात गंभीर है। परिवार के लोग आईजी कार्यालय जाने की तैयारी में हैं। इस हमले से पहले लखनऊ से आते वक्त ट्रेन में भी साध्वी पर हमला हो चुका है। लखनऊ से आने के बाद वह घर के अंदर कमरे में पहुंची और खुद को आग लगा ली। घटना के समय उनकी मां पड़ोस में गई हुईं थीं और भाभी घर के दरवाजे पर थी। चीख-पुकार सुनकर भाभी अंदर गईं तब जानकारी हुई।

2012 से बहादुरगंज में तीन बीघा जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। तीन व्यवसाइयों के खिलाफ Sadhvi ने एफआईआर भी लिखवा रखी है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »