गावस्कर के ट्रस्ट को अलॉट प्‍लॉट अथॉरिटी ने वापस मांगा तो सचिन सामने आए

मुंबई। पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर को मदद करने के लिए सचिन तेंडुलकर ने ‘पैड अप’ कर लिया है। दरअसल, इन दोनों ने संयुक्त रूप से बांद्रा प्लॉट पर एक क्रिकेट अकादमी शुरू करने का प्रस्ताव रखा है। यह प्लॉट 31 वर्ष पहले सुनील गावस्कर के ट्रस्ट को अलॉट किया गया था, लेकिन काफी समय तक कोई कंस्ट्रक्शन नहीं हुआ तो महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी (MHADA) ‘गावस्कर ट्रस्ट’ से वापस लेना चाहता है। अब इस मामले में गावस्कर की मदद के लिए सचिन आगे आए हैं।
रंगशारदा सभागार के पास 21348-वर्ग फुट का भूखंड 31 साल पहले सुनील गावस्कर क्रिकेट फाउंडेशन ट्रस्ट को एक इनडोर क्रिकेट अकादमी स्थापित करने के लिए आवंटित किया गया था लेकिन कई वर्षों में कोई निर्माण नहीं किया गया था। दिसंबर में अथॉरिटी ने राज्य सरकार से यह कहते हुए प्लॉट को वापस लेने की बात कही कि ‘गावस्कर ट्रस्ट’ के साथ डील खत्म हो गई है।
सीएम उद्धव से मिले सचिन और गावस्कर
दूसरी ओर लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर ने मास्टर ब्लास्टर के साथ बिजनेस पार्टनर बनने की तैयारी कर ली है। इस बारे में तेंडुलकर ने 24 दिसंबर को गावस्कर के साथ मातोश्री का दौरा किया और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात की। पिछले महीने गावस्कर ने मुंबई उपनगर के अभिभावक मंत्री आदित्य ठाकरे से मुलाकात की, जिससे जूनियर ठाकरे (आदित्य ठाकरे) ने म्हाडा से पूछा कि क्या दोनों क्रिकेट के महानायक बांद्रा प्लॉट पर एक अकादमी स्थापित कर सकते हैं।
गावस्कर और सचिन की ओर से नहीं आया कमेंट
इस बारे में न्यू जीलैंड में कमेंट्री कर रहे सुनील गावस्कर की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है और न ही सचिन से बात हो सकी है। हालांकि, एनसीपी नेता और राज्य के गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, अभी तक कोई फैसला नहीं किया गया है। उल्लेखनीय है कि सचिन तेंडुलकर इंग्लिश काउंटी मिडिलसेक्स के साथ नवी मुंबई में पहले से ही क्रिकेट अकादमी चला रहे हैं।
60 वर्ष के लिए आवंटित किया गया है प्लॉट
म्हाडा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि गावस्कर के ट्रस्ट को तीन साल के भीतर प्लॉट पर अकादमी का निर्माण करना था। ट्रस्ट को यह जमीन 60 वर्ष के लिए आवंटित की गई थी और 1999, 2002 और 2007 में नियम और शर्तों को संशोधित किया गया था। ट्रस्ट को बाहरी स्रोतों से वित्त जुटाने की भी अनुमति दी गई थी लेकिन 2011 में म्हाडा को अतिक्रमण की शिकायतें मिलीं। ट्रस्ट के खिलाफ कार्यवाही का प्रस्ताव भी रखा गया था।
मामले में पॉलिटिकल एंगल
गावस्कर और सचिन उद्धव के साथ मातोश्री में मुलाकात करने के तीन दिन बाद बांद्रा पश्चिम के भाजपा विधायक और मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष आशीष शेलार ने उद्धव को लिखा कि म्हाडा को भूखंड को वापस लेने की अनुमति दी जानी चाहिए।
उन्होंने अपने पत्र में लिखा, गावस्कर की उपलब्धियों पर हमें गर्व है और हम चाहते हैं कि उनके अनुभवों का देश को फायदा मिले लेकिन प्लॉट को अलॉट किए 3 दशक हो गए। अब तक न तो लीज साइन हुई और न ही प्लॉट को सुरक्षित करने की कोई व्यवस्था उन्होंने की। इस तरह उस प्लॉट का कोई उपयोग नहीं हो रहा है। अगर अथॉरिटी प्लॉट वापस चाहती है तो उसे दिया जाना चाहिए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *