अगर नेटो हमारी अनदेखी करता है तो हम सैन्य प्रतिक्रिया के लिए तैयार: रूस

रूस ने कहा है कि अगर नेटो रूस की सुरक्षा चिंताओं की अनदेखी करता है तो रूस सैन्य प्रतिक्रिया के लिए तैयार है.
रूस के सरकारी मीडिया एजेंसी तास को एक वरिष्ठ राजनयिक ने बताया कि ‘यदि नेटो फिर से मास्को की चिंताओं की अनदेखी करता है तो हम सैन्य और सैन्य-तकनीकी तरीकों से जवाब देंगे.’
‘मैं फिर से कहता हूं, हमें उन गतिविधियों को संतुलित करना होगा जो हमारे लिए चिंता का विषय हैं,क्योंकि वे हमारे लिए जोख़िम बढ़ाएंगे.’
वरिष्ठ राजनयिक ने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि रूस इस परिदृश्य को रोकने की कोशिश करेगा और वह जानता है कि गंभीर हालातों से बचने के लिए बातचीत करने की ज़रूरत है.
17 दिसंबर को रूसी विदेश मंत्रालय ने अमेरिका और नेटो से क़ानूनी सुरक्षा गारंटी के प्रावधान पर दो रूसी ड्राफ़्ट दस्तावेज जारी किए.
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने इससे पहले नेटो से रूस के साथ विश्वसनीय दीर्घकालिक सुरक्षा गारंटी पर ठोस वार्ता शुरू करने को कहा था.
उनका कहना है कि रूस को नेटो की ओर से क़ानूनी रूप से बाध्य सुरक्षा गारंटी देनी चाहिए है क्योंकि पश्चिमी देश अपनी मौखिक प्रतिबद्धताओं को पूरा करने में विफल रहे हैं.
इस महीने की शुरुआत में अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसी ने चेतावनी दी थी कि रूस अगले साल की शुरुआत में यूक्रेन पर हमला करने की तैयारी कर रहा है.
यूक्रेन की सीमाओं पर रूस के लगभग एक लाख सैनिक तैनात किए जा चुके हैं. अमेरिका का मानना है कि जनवरी के अंत तक इसकी संख्या1,75,000तक बढ़ सकती है.
अमेरिका ने साफ़ कहा है कि अगर रूस ऐसा करता है तो इसके गंभीर परिणाम उसे भुगतने पड़ेंगे.
वहीं, रूस को डर है कि नेटो सेनाएं ठीक उसके दरवाज़े तक पहुंच जाएंगी और इसलिए वह सुरक्षा के लिए नेटो संगठन से गारंटी चाहता है.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *