Sanjay College में बवाल: 2% र‍िजल्ट पर भड़के छात्र-छात्राएं, पुलिस ने भांजी लाठियां, 4 घायल

मथुरा। संजय कॉलेज द्वारा लाखों रुपए की फीस लेने के बावजूद अभी तक एक साल की परीक्षा भी न होने के आरोप लगा रहे छात्र-छात्राओं का सब्र उस समय जवाब दे गया जब चेयरमैन व भाजपा नेता एसके शर्मा कॉलेज पहुंचे।
घटनाक्रम के अनुसार मथुरा के चौमुहां स्थित चौमुहां स्थित एसकेएस ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन में दूसरे दिन भी बवाल हो गया। Sanjay College के बाहर धरना दे रहे छात्र-छात्राओं ने शनिवार को एसकेएस ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन के चेयरमैन एसके शर्मा से अभद्रता दी। इसके बाद कॉलेज में गए एसके शर्मा के पीछे से एक छात्र ने घुसने की कोशिश की।

कॉलेज के कर्मचारी ने छात्र को थप्पड़ जड़ दिया। इससे छात्र-छात्राओं में उबाल आ गया। छात्र हंगामा करते हुए कॉलेज में घुसने लगे, तभी कॉलेज कर्मचारियों और छात्रों के बीच मारपीट होने लगी। पुलिस ने लाठियां भांजकर छात्राओं को बाहर किया। इसमें चार छात्र-छात्राएं चोटिल हो गए। पुलिस ने उन्हें केडी मेडिकल भिजवाया। वहीं पुलिस लाठी भांजने से इंकार कर रही है।

Sanjay College
Ruckus in Sanjay College: Students raging on 2% result, police niece sticks, 4 injured

मथुरा-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित संजय कॉलेज के छात्रों ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ हड़ताल कर दी। छात्राओं का आरोप है कि उन्हें परीक्षाओं में कम इंटरनल नंबर दिए गए हैं। हड़ताल के समय कुछ छात्राएं रोती हुई नजर आईं।

मथुरा के संजय कॉलेज ऑफ फार्मेसी से आयुर्वेद की छात्राएं हड़ताल पर बैठ गईं। बीएएमएस तृतीय वर्ष की छात्राओं ने कहा कि कॉलेज द्वारा लाखों रुपए की फीस ली जाती हैं। लेकिन, अभी तक एक साल की परीक्षा भी नहीं हुई हैं।

डॉ. बीआर आंबेडकर विवि आगरा ने एसकेएस ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन का परीक्षा परिणाम घोषित किया है। इसमें बीएएमएस प्रथम वर्ष का परीक्षा परिणाम सिर्फ दो प्रतिशत रहा है। 98 प्रतिशत परीक्षार्थी फेल हुए हैं। इससे आक्रोशित छात्रों ने शुक्रवार को हंगामा कर दिया।

कॉलेज के गेट पर धरना पर बैठ गए। स्थिति बिगड़ते देख पुलिस मौके पर पहुंच गई। इस दौरान छात्रों का कहना था कि तीन साल में बीएएमएस की परीक्षा इस बार हुई। 2017 से लेकर 2019 तक एडमिशन लेने वाले सभी छात्र एक ही बैच में पढ़ रहे हैं।

धरने पर बैठै 2017 बैच के छात्राओं ने कहा कि अभी भी पहली साल में बैच चल रहा है। जो परीक्षा कॉलेज में कराई जाती हैं उनमें अंक नहीं दिए गए। आगामी परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड नहीं देते हैं। छात्राओं का कहना है कि फीस के नाम भी हजारों रुपए अधिक लिए जाते हैं।

आज शनिवार को भी छात्र-छात्राएं कॉलेज प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कॉलेज प्रशासन पर अधिक फीस लेने, एग्जाम न कराने, शिकायत करने पर हॉस्टल की लाइट काटने, भोजन की परेशानी और बाहरी लोगों द्वारा छात्रों के साथ अभद्रता करने के भी आरोप लगाए।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »