चाय विक्रेता की बेटी को मिली 3.8 करोड़ रुपए की स्कॉलरशिप

बुलंदशहर। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर की रहने वाली सुदीक्षा भाटी को अमेरिका के प्रतिष्ठित बॉबसन कॉलेज में पढ़ाई के लिए फुल स्कॉलरशिप मिली है। 12वीं में सीबीएसई से 98 फीसदी मार्क्स लाकर अपने जिले में टॉप करने वाली सुदीक्षा का यह सफर बिल्कुल भी आसान नहीं था। एक बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाली सुदीक्षा के पिता चाय बेचकर परिवार का गुजारा करते हैं। परिवार की आर्थिक स्थिति और सामाजिक रूढ़ियों को तोड़कर सुदीक्षा ने न सिर्फ अपनी पढ़ाई जारी रखी बल्कि अब अमेरिका में पढ़ने का अपना सपना भी पूरा करने जा रही है।
अमेरिका की बॉबसन कॉलेज ने सुदीक्षा को 4 साल के कोर्स के लिए 3.8 करोड़ की स्कॉलरशिप दी है। अपनी इस उपलब्धि के बारे में सुदीक्षा कहती हैं, ‘पहले मेरे लिए पढ़ाई कर सकने का सपना पूरा करना आसान नहीं था। 2011 में मुझे विद्याज्ञान लीडरशिप अकैडमी स्कूल में दाखिला मिल गया और इसके बाद मेरे लिए पढ़ाई जारी रखना आसान हो गया। इस स्कूल में बड़ी संख्या में वंचित समुदाय से आने वाले बच्चे पढ़ते हैं और मुझे भी वहां यह मौका मिला। शुरुआत में मेरे परिवार और रिश्तेदारों को आपत्ति थी, लेकिन मेरे पैरंट्स ने मुझे पढ़ाई जारी रखने के लिए प्रोत्साहित किया।’
अमेरिका जाने के अपने सपने के बारे में सुदीक्षा कहती हैं, ‘मेरी मां स्कॉलरशिप के बारे में जानकर बहुत खुश थीं क्योंकि उन्हें लगा कि भगवान ने उनकी प्रार्थना सुन ली है। मेरे पापा को दूसरे देश जाकर पढ़ाई करने को लेकर थोड़ी शंका जरूर थी। अमेरिका में जाकर पढ़ाई करने से मुझे अपनी क्षमता का पूरा उपयोग करने का मौका मिलेगा। मुझे खुशी है कि कमजोर आर्थिक स्थिति के बाद भी मैं इस सपने को पूरा कर पा रही हूं।’
बता दें कि विद्याज्ञान लीडरशिप अकैडमी की स्थापना 2009 में शिव नडार फाउंडेशन की तरफ से की गई थी। इस वक्त बुलंदशहर और सीतापुर के 1900 से ज्यादा गरीब परिवार के बच्चे इस प्रोग्राम के तहत अपनी स्कूली शिक्षा पूरी कर पा रहे हैं। सुदीक्षा दूसरे बच्चों को सिर्फ यही कहना चाहती हैं कि कभी भी अपने सपने को पूरा करने के लिए मेहनत करनी बंद नहीं करनी चाहिए।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »