Riverfront घोटाला: ताबड़तोड़ छापेमारी, ईडी ने खंगाले इंजीनियरों व ठेकेदारों के घर

Riverfront scam में ईडी ने यूपी समेत 4 राज्यों में की छापेमारी

लखनऊ। Riverfront घोटाले को लेकर प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने यूपी समेत चार राज्यों में ताबड़तोड़ छापेमारी की है। लखनऊ के विशालखंड में भी ईडी ने छापेमारी की। ईडी ने इंजीनियरों व ठेकेदारों का घर खंगाला। ईडी की कार्रवाई से हड़कंप मच गया।

ईडी टीम ने लखनऊ के गोमती नगर के विशालखंड में छापेमारी की। इंजीनियरों और ठेकेदारों का पूरा घर खंगाला गया। टीम ने राजाजीपुरम इलाके में इंजीनियरों, ठेकेदारों और कंपनी के गठजोड़ को लेकर छापेमारी की।

सिंचाई विभाग के पूर्व अधिकारियों और गैमन इंडिया कंपनी के अधिकारियों के आठ ठिकानों पर ईडी की टीम पहुंची और घंटों तलाशी ली। उधर, राजस्थान के भिवाड़ी में ईडी की छापेमारी जारी है। हरियाणा के गुरुग्राम में ईडी ने छापेमारी की है। इसके अलावा नोएडा के सेक्टर-62 स्थित आईथम टॉवर में भी छापेमारी की गई है।

गोमती के 13 किमी लंबे किनारों का होना था सौंदर्यीकरण

Riverfront प्रोजेक्ट के तहत लखनऊ के बीचोंबीच बहने वाली गोमती नदी के 13 किलोमीटर लंबे किनारों का सौंदर्यीकरण किया जाना था। शुरू में यह प्रोजेक्ट 656 करोड़ का था, जो बाद में बढ़कर 1513 करोड़ का हो गया। प्रदेश सरकार का आरोप है कि इस रकम का 95 फीसद यानी 1435 करोड़ खर्च होने के बावजूद सिर्फ 60 फीसद काम पूरा हो सका।

इस तरह प्रोजेक्ट का होना था विस्तार

इस प्रोजेक्ट में गोमती नदी के दोनों किनारों पर डायफ्रॅाम वॉल बननी थी और लैंडस्केपिंग करके खूबसूरत लॉन। परमानेंट और मौसमी फूलों की क्यारियां…साइकल ट्रैक, जॉगिंग ट्रैक, वॉकिंग प्लाज़ा बनाया जाना था। प्रोजेक्ट के लिए फ्रांस से 45 करोड़ की लागत से एक फव्वारा मंगाया गया था जिसके चलने पर लेज़र लाइट के ज़रिए लखनऊ के मॉन्युमेंट्स की तस्वीर बनती। चार करोड़ की लागत से वॉटर बस भी आई थी जो घूमने वालों को लखनऊ की सैर कराती और फिर उन्हें गोमती नदी में भी सफर कराती।

गौरतलब है कि गोमती रिवरफ्रंट पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का ड्रीम प्रोजेक्ट था। प्रदेश में योगी सरकार के आने के बाद इसमें घोटाले की बात कहकर सीबीआई से जांच कराने की गुजारिश की थी। जिसके बाद सीबीआई ने जांच की थी और इंजीनियरों के बयान दर्ज किए थे। अब प्रवर्तन निदेशालय ने भी जांच शुरू करते हुए छापेमारी की।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »